देखें रात 9 बजे तक का शिमला अपडेट

Edited By Vijay, Updated: 11 Jun, 2022 09:12 PM

shimla update

शिमला अपडेट में हम लाए हैं रात 9 बजे तक की कुछ ऐसी खबरें जो आप अपने व्यस्त शैड्यूल के चलते मिस कर जाते हैं।

शिमला (ब्यूरो): शिमला अपडेट में हम लाए हैं रात 9 बजे तक की कुछ ऐसी खबरें जो आप अपने व्यस्त शैड्यूल के चलते मिस कर जाते हैं। 

शिमला में जल संकट, टैंकरों और बावड़ियों से पानी भरने को लगी लाइनें
शिमला:
शिमला में पानी को लेकर हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। जल प्रबंधन कंपनी के तीसरे दिन वाटर सप्लाई देने के दावे हवा हवाई हो गए है। कंपनी की ओर से जो शैड्यूल जारी किया गया है। शहर के अधिकतर क्षेत्रों में उसके मुताबिक पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है, जिससे लोगों का गुस्सा फूट गया है। नलों से पानी नहीं मिलने पर कई क्षेत्रों में टैंकरों से पानी की आपूॢत की जा रही है, जहां पर लोग खाली बर्तन लिए लंबी लाइन में अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। शनिवार को लोअर बाजार में टैंकर सप्लाई के दौरान पानी भरने के लिए लोगों की भीड़ देखी गई, वहीं विकासनगर में पिछले कई दिनों से पानी नहीं आने के कारण लोग बावड़ियों से पानी भरने को मजूबर हो गए हैं।

जाखू में स्थापित होगा एस्केलेटर, शहरी विकास मंत्री ने रखी आधारशिला
शिमला:
शिमला स्मार्ट सिटी प्रोजैक्ट के तहत जाखू में शहर का पहला एस्केलेटर स्थापित होगा। इस प्रोजैक्ट को अगले 6 महीनों में पूरा कर दिया जाएगा। इस प्रोजैक्ट का जिम्मा रोप-वे एंड रैपिड ट्रांसपोर्ट सिस्टम डैवैल्पमैंट कार्पोरेशन को सौंपा गया है। प्रोजैक्ट के तहत एस्केलेटर निर्माण पर 7 करोड़ 94 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। शनिवार को शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने एस्केलेटर की आधारशिला रखी। इस एस्केलेटर से जाखू मंदिर आने जाने वाले स्थानीय लोगों व खासतौर से पर्यटकों को सुविधा मिलेगी। इस दौरान मंत्री ने की-मैन क्वार्टर से बाबा बालक नाथ मंदिर तक कवर्ड पाथ का भी शिलान्यास किया, जिसकी परियोजना लागत लगभग 2 करोड़ रुपए है।

पर्यटन सीजन के प्रति गंभीर नहीं सरकार, मैटलिंग कार्य के चलते जाम में फंस रहे पर्यटक 
शिमला:
प्रदेश में चल रहे पर्यटन सीजन को लेकर प्रदेश सरकार गंभीर नहीं है। सरकार द्वारा दिन में चल रही सड़क मैटलिंग कार्य के चलते बाहरी राज्यों से आ रहे पर्यटक घंटों जाम में फंस रहे हैं। टूरिज्म इंडस्ट्री स्टेक होलडर्ज एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहिंद्र सेठ ने कहा कि शिमला में पर्यटकों का आगमन बढ़ते ही दोबारा से पर्यटकों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार पर्यटन के बारे में बिल्कुल भी गंभीर नहीं है। शुक्रवार को चंडीगढ़ की तरफ से आ रहे पर्यटक परवाणु के पास सड़क पर मैटलिंग कार्य काम दिन में किए जाने के कारण कई किलोमीटर तक जाम में फंसे रहे। उन्होंने कहा कि यदि सरकार के यही हाल रहे तो होटलों को अपना खर्च निकालने के लाले पड़ सकते हैं क्योंकि होटल कारोबारियों का 70 प्रतिशत के करीब रैवेन्यू इसी दो महीने के समर सीजन पर ही निर्भर करता है।

मुद्दाविहीन कांग्रेस पार्टी के लिए सत्ता बहुत दूर : बबली
शिमला:
भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. राकेश शर्मा बबली ने कांग्रेस को मुद्दाविहीन पार्टी बताया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात में कांग्रेस के लिए सत्ता बहुत दूर है। वह किसान मोर्चा प्रदेश पदाधिकारी व जिला महामंत्रियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मोर्चा सितम्बर में धन्यवाद रैली को निकालेगा। संगठन की मजबूती के लिए मंडल विस्तारकों को भी नियुक्ति दी गई है। उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार की तरफ से किसानों के हित में कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। पहली बार किसी सरकार ने प्रदेश की मंडियों के विकास के लिए बजट में प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि किसान सम्मान निधि से प्रदेश के 8 लाख 45 हजार किसानों को लाभ पहुंचा है।

मिड-डे मील कर्मचारियों ने सरकार को दी प्रदर्शन की चेतावनी
कुमारसैन (सोनी):
मिड-डे मील वर्कर्स यूनियन संबंधित सीटू ब्लॉक इकाई कुमारसैन का ब्लॉक सम्मेलन शनिवार को कुमारसैन में आयोजित किया गया। इस अवसर पर मिड-डे मील यूनियन के कई सदस्य मौजूद रहे। इस अवसर पर यूनियन के सदस्यों ने कहा कि सरकार द्वारा मजदूरों के श्रम कानूनों को खत्म किया जा रहा है। देश में महंगाई लगातार बढ़ रही है, जिससे आम जनता का जीवन यापन करना मुश्किल हो गया है, बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। उन्होंने मांग रखी कि मिड-डे मील कर्मचारियों को भी सरकार के अन्य कर्मचारियों की भांति न्यूनतम वेतन, सभी प्रकार की छुट्टियां, पैंशन, ग्रैज्युटी, स्वास्थ्य आदि सुविधाएं प्रदान करने की जाएं। सम्मेलन में निर्णय लिया गया कि यदि प्रदेश सरकार मिड-डे मील मजदूरों की मांगों पर गौर नहीं करेगी तो प्रदेश सरकार के खिलाफ यूनियन प्रदर्शन करेगी। 

वीकैंड पर उमड़ी पर्यटकों की भीड़, शहर में जाम हुआ विकराल
शिमला:
राजधानी में वीकैंड पर पर्यटकों की संख्या काफी ज्यादा बढ़ गई है, जिससे जाम की समस्या विकराल हो गई है। शनिवार को क्रॉसिंग से पुराना बस स्टैंड तक इतना जाम लग गया कि पुलिस के भी जाम को बहाल करने में पसीने छूट गए। इस दौरान लोगों का मिनटों का सफर घंटों में तय हो गया। पूरे दिन भर वाहन आराम से सरकते रहे। राजधानी में जाम से निपटना पुलिस प्रशासन को चुनौती बन चुकी है। पर्यटकों की आमद से वाहनों की संख्या भी अधिक हो गई है। इन दिनों शहर में इसके अलावा भी कई जगह पर जाम ही जाम देखने को मिल रहा है। ऐसा नहीं कि सड़कों पर पुलिस जवान तैनात नहीं हैं। पुलिस के जवान जाम को बहाल करने में काफी मेहनत कर रहे हैं, लेकिन जब जाम की समस्या विकराल होती है तो पुलिस जवान भी कुछ नहीं कर पाते हैं। यहां पर पुलिस को अभी भी सख्त कदम उठाने की जरूरत है। तभी लोगों को जाम से निजात मिलेगी। 

शिमला में 16 से 18 जून तक होगा अंतर्राष्ट्रीय साहित्य महोत्सव
शिमला:
साहित्य अकादमी, नई दिल्ली के एक प्रवक्ता ने शनिवार को जानकारी देते हुए बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार एवं साहित्य अकादमी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय साहित्य महोत्सव का आयोजन 16 से 18 जून तक शिमला में कला और संस्कृति विभाग हिमाचल प्रदेश के सहयोग से किया जा रहा है। गेयटी हैरिटेज संस्कृति परिसर, टाऊन हाल व रिज क्षेत्र आदि स्थानों पर आयोजित हो रहे इस साहित्य उत्सव का उद्घाटन सत्र 16 जून को प्रात: 10 से 12 बजे के बीच गेयटी थिएटर के मुख्य सभागार में होगा, जिसमें संस्कृति राज्य मंत्री भारत सरकार अर्जुन राम मेघवाल एवं मीनाक्षी लेखी और आंध्र प्रदेश के राज्यपाल विश्व भूषण हरिचंदन उपस्थित रहेंगे। किसी भी देश का साहित्य वहां की संस्कृति का प्रतिनिधित्व प्रतिबिंबित करता है।  

200 मीटर खाई में गिरी पिकअप, चालक को आई चोटें
शिमला:
शिमला के जुन्गा सुईटा सड़क मार्ग पर एक पिकअप दुर्घटनाग्रस्त हुई, जिसमें चालक को चोटें आई हैं। बताया जा रहा है कि सब्जी लेकर शिमला आ रही यिह पिकअप सड़क से करीब 200 मीटर नीचे गहरी खाई में गिरी है, जिससे कुछ किसानों की सब्जियां बर्बाद हो गईं। स्थानीय निवासी रमेश कुमार ने कहा कि इस हादसे का कारण सड़क पर पड़े गड्ढे हैं, लोक निर्माण विभाग को काफी बार शिकायतें दी हैं लेकिन कोई भी इसकी सुध लेने नहीं आ रहा है। स्थानीय लोग काफी समय से इस सड़क की मुरम्मत करने की सरकार से गुहार लगा रहे हैं लेकिन न तो लोक निर्माण विभाग और न ही जिला प्रशासन इसकी सुध ले रहा है। 3 पंचायतों के लोग इस सड़क से गुजरते हैं जबकि इस सड़क की हालत खराब है। लोगों ने सड़क की खस्ता हालत को लेकर धरना-प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

आनी में बैल के हमले से वृद्ध महिला की मौत
आनी:
उपमंडल आनी में बेसहारा छोड़े गए एक बैल के हमले से जख्मी वृद्ध महिला की मौत हो गई है। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। घटना के मुताबिक आनी खंड की ग्राम पंचायत आनी के रुना गांव की रहने वाली वृद्ध महिला प्रेम दासी पत्नी प्रेम सिंह शुक्रवार दोपहर बाद आनी से घर जा रही थी। इस दौरान रास्ते में एक बैल ने उसे सींग मारकर बुरी तरह घायल कर दिया। जख्मी हालत में वृद्धा को सिविल अस्पताल आनी लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे रामपुर के खनेरी स्थित अस्पताल रैफर कर दिया गया, यहां देर रात उसकी मौत हो गई। एसडीएम आनी नरेश वर्मा ने बताया कि उन्होंने पशुपालन विभाग और नगर पंचायत को जरूरी कदम उठाकर उक्त बैल को रिहायशी इलाके से कहीं दूर छोड़ने के निर्देश दिए है।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!