बिजली बोर्ड के हजारों कर्मचारियों को राहत, पंजाब में मिले स्केल की तर्ज पर मिलेगा वित्तीय लाभ

Edited By Vijay, Updated: 30 Jun, 2022 10:04 PM

thousands of employees of electricity board will get financial benefits

बिजली बोर्ड में कार्यरत हजारों कर्मचारियों के लिए राहत भरी खबर है। बिजली बोर्ड निदेशक मंडल की बैठक में बिजली बोर्ड के हजारों कर्मचारियों को 2012 में पंजाब में मिले स्केल की तर्ज पर वित्तीय लाभ देने का फैसला लिया है। इसके तहत बोर्ड को हजारों...

शिमला (राजेश): बिजली बोर्ड में कार्यरत हजारों कर्मचारियों के लिए राहत भरी खबर है। बिजली बोर्ड निदेशक मंडल की बैठक में बिजली बोर्ड के हजारों कर्मचारियों को 2012 में पंजाब में मिले स्केल की तर्ज पर वित्तीय लाभ देने का फैसला लिया है। इसके तहत बोर्ड को हजारों कर्मचारियों को लाभ होगा। इन्हें पे-बैंड को चुनने में अतिरिक्त विकल्प मिलेगा। इसके तहत प्रदेश में पंजाब पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड की तर्ज पर पात्र कर्मचारियों के वेतनमान में वर्ष 2012 से बढ़ौतरी की गई है। इस निर्णय से कर्मचारियों की लंबे समय से चली आ रही मांग भी पूरी हो गई है। इसके अतिरिक्त बैठक में बोर्ड में 1 विद्युत सर्कल, 11 विद्युत मंडल व 13 विद्युत उपमंडल खोलने का फैसला लिया है। 

बैठक में कर्मचारियों के हित में लिए महत्वपूर्ण निर्णय
बोर्ड के अध्यक्ष आरडी धीमान की अध्यक्षता में हुई निदेशक मंडल की बैठक में कर्मचारियों के हित में अन्य महत्वपूर्ण निर्णय भी लिए गए हैं। नए सर्कल, विद्युत मंडल व उपमंडल प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर खोले गए हैं। इस निर्णय से जिला कांगड़ा के नूरपुर में विद्युत वृत्त, सिरमौर जिले के सराहां, संगड़ाह, शिलाई, जिला मंडी के थुनाग, नेरचौक, जिला ऊना के हरोली, थानाकलां, जिला हमीरपुर के सुजानपुर, जिला कांगड़ा के देवीमुराहमुड़ी, जिला किन्नौर के भावानगर व जिला चम्बा के तीसा में विद्युत मंडल खोले गए हैं। इसके साथ ही जिला सिरमौर की हरिपुरधार, कफोटा, संतोषगढ़, चडोल, संगड़ाह, जिला शिमला के क्वार, निरथ, शोघी, जिला सोलन के चायल, जिला हमीरपुर के चबूतरा, जंगलबैरी, कांगड़ा जिला के धीरा और चम्बा जिला के नकरोड़ में विद्युत उपमंडल खोले गए हैं। बैठक में प्रबंध निदेशक पंकज डढवाल से लेकर अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

पदोन्नत होने का सर्विस क्राइटेरिया 10 से घटाकर 7 वर्ष किया
बैठक में सब स्टेशन अटैंडैंट नॉन-आईटीआई का फोरमैन और जूनियर इंजीनियर सब स्टेशन के पदों पर पदोन्नत होने का सर्विस क्राइटेरिया 10 वर्ष से घटाकर 7 वर्ष किया गया है। इस छूट की घोषणा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पिछले दिनों बिजली बोर्ड के तकनीकी कर्मचारियों के सोलन जिले के बद्दी में हुए वार्षिक अधिवेशन में की थी। इसके अतिरिक्त 66/22 केवी विद्युत उपकेंद्र हाटकोटी, आंध्रा और नोगली के कार्य को सुचारू रूप से चलाने के लिए इन उपकेंद्रों के लिए सब स्टेशन और फील्ड तकनीकी वर्ग के 30 नए पदों को सृजित किया गया है।

हिमाचल के हर क्षेत्र में समान विकास के लिए प्रतिबद्ध : सुखराम चौधरी
निदेशक मंडल की बैठक में जनहित में लिए गए इन निर्णयों पर ऊर्जा मंत्री सुखराम चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री अपनी घोषणाओं में जनहित को सर्वोपरि रखते हुए हिमाचल के हर क्षेत्र में समग्र और समान विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने इन निर्णयों के लिए हिमाचल प्रदेश स्टेट इलैक्ट्रीसिटी बोर्ड लिमिटेड के अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई देते हुए आशा व्यक्त की है कि हिमाचल प्रदेश स्टेट इलैक्ट्रीसिटी बोर्ड लिमिटेड इन निर्णयों से प्रदेश के विद्युत उपभोक्तताओं को और अधिक प्रभावी गुणवत्तापूर्ण तथा सुनिश्चित विद्युत आपूर्ति कर पाने में सक्षम रहेगा। इस मौके पर बोर्ड लिमिटेड के प्रबंध निदेशक पंकज डढवाल ने कहा कि बोर्ड लिमिटेड उपभोक्ताओं को सुचारू विद्युत आपूर्ति प्रदान करने के लिए कृतसंकल्प है और इस दिशा में प्रभावी प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सर्विस कमेटी और निदेशक मंडल द्वारा लिए गए जनहित के निर्णयों से विद्युत उपभोक्ताओं को बेहतर सेवा की सुविधा मिलेगी।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here
 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!