10 विधायकों के साथ दिल्ली में राजीव शुक्ला से मिले सुखविंदर सुक्खू, जानिए क्या है वजह

Edited By Vijay, Updated: 22 Dec, 2021 11:57 PM

sukhu met rajiv shukla in delhi along with 10 mlas

आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर मैदान में कूदने से पहले हिमाचल कांग्रेस की राजनीति दिल्ली में गर्माने लगी है। इसी कड़ी में प्रदेश कांग्रेस के नेता अपने-अपने स्तर पर दिल्ली में बिसात बिछाने में लगे हुए हैं। चर्चा है कि कांग्रेस के कई नेता विधानसभा चुनाव...

शिमला (राक्टा): आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर मैदान में कूदने से पहले हिमाचल कांग्रेस की राजनीति दिल्ली में गर्माने लगी है। इसी कड़ी में प्रदेश कांग्रेस के नेता अपने-अपने स्तर पर दिल्ली में बिसात बिछाने में लगे हुए हैं। चर्चा है कि कांग्रेस के कई नेता विधानसभा चुनाव से पहले संगठन में व्यापक स्तर पर फेरबदल चाह रहे हैं। ऐसे में उनके द्वारा दिल्ली की दौड़ लगाकर पार्टी नेताओं के समक्ष अपना पक्ष रखा जा रहा है। सूत्रों के अनुसार विधायक एवं पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने भी करीब 10 विधायकों के साथ दिल्ली में पार्टी के प्रदेश प्रभारी राजीव शुक्ला से मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद प्रदेश कांग्रेस में चर्चाओं को माहौल भी गर्मा गया है।

सुक्खू के साथ ये विधायक रहे मौजूद

सूत्रों के अनुसार सुक्खू की अगुवाई में जिन विधायकों ने राजीव शुक्ला से मुलाकात की, उनमें सतपाल रायजादा, लखविंद्र राणा, रोहित ठाकुर, संजय अवस्थी, अनिरु द्ध सिंह सहित अन्य शामिल थे। इस दौरान कांग्रेस विधायकों ने संगठनात्मक मुद्दों के साथ ही आगामी विधानसभा चुनाव पर प्रदेश प्रभारी के साथ चर्चा की और अपने-अपने सुझाव भी दिए। देखा जाए तो पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के निधन के बाद कांग्रेस में कौन सर्वमान्य नेता होगा, उसको लेकर अंदरखाते राजनीति गर्माई हुई है। इसके साथ ही आगामी वर्ष विधानसभा चुनाव भी होने हैं। ऐसे में प्रयास किए जा रहे हैं कि अपने चहेतों की नियुक्ति मुख्य पदों पर हो ताकि वे चुनाव के समय अपने समर्थकों के टिकट की पैरवी कर सकें। सूत्रों के अनुसार संगठन में बदलाव के पीछे तर्क दिया जा रहा है कि वर्तमान प्रदेशाध्यक्ष के 3 साल का कार्यकाल जल्द ही पूरा होने वाला है। ऐसे में यदि कोई निर्णय लेना है तो समय रहते लिया जाए, क्योंकि आगामी वर्ष चुनावी वर्ष है।

धर्मशाला में बन गई थी रणनीति

सूत्रों की मानें तो दिल्ली में की गई मुलाकात की रणनीति धर्मशाला शीतकालीन सत्र के दौरान बन गई थी। इसके साथ ही प्रदेश सह प्रभारी संजय दत्त के समक्ष भी धर्मशाला में विधायकों ने अपना पक्ष रखा था। इसके बाद अब प्रदेश प्रभारी से मुलाकात कर विधायकों ने अपना पक्ष रखा है। ऐसे में देखना होगा कि आगामी दिनों में कांग्रेस में क्या समीकरण उभर कर सामने आते हैं।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!