27 दवाओं के सैंपल होने पर ड्रग विभाग ने लिया कड़ा संज्ञान, 20 फार्मा उद्योगों को नोटिस जारी

Edited By Vijay, Updated: 18 Jan, 2023 08:06 PM

notice issued to 20 pharma industries on failure sample of 27 medicine

राज्य ड्रग विभाग ने 27 दवाओं के फेल हुए सैंपल का कड़ा संज्ञान लेते हुए 20 फार्मा उद्योगों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। केन्द्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) द्वारा जारी ड्रग अलर्ट में प्रदेश में बनी 27 दवाओं के सैंपल फेल हुए थे।

सोलन (नरेश पाल): राज्य ड्रग विभाग ने 27 दवाओं के फेल हुए सैंपल का कड़ा संज्ञान लेते हुए 20 फार्मा उद्योगों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। केन्द्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) द्वारा जारी ड्रग अलर्ट में प्रदेश में बनी 27 दवाओं के सैंपल फेल हुए थे। इसमें मेडेन फार्मास्यूटिकल मानपुरा बद्दी की 5, एथेन लाइफ सांइस की 4, एथेन लाइफ सांइस कालाअम्ब की 4, एलवेस हैल्थ केयर उपरला नंगल नालागढ़ व टी एंड जी मेडिकेयर बद्दी की 2-2 दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। 

17 फार्मा उद्योगों की एक से अधिक दवाओं के सैंपल फेल
प्रदेश में 17 फार्मा उद्योगों की एक से अधिक दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं। केन्द्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) के पिछले 9 माह के आंकड़ों में यह खुलासा हुआ है। इसमें आधा दर्जन उद्योगों के तो बार-बार सैंपल फेल हो रहे हैं। हालांकि राज्य ड्रग विभाग ने ऐसे उद्योगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उनके उस दवा के उत्पादन का लाइसैंस भी निलम्बित किया है, जिसके सैंपल फेल हुए हैं। कालाअम्ब की निक्सी लैबारेट्रीज के सबसे अधिक 18 सैंपल फेल हुए हैं। इसमें 14 सैंपल दिसम्बर में ही फेल हुए हैं।   

गांबिया में 66 बच्चों की मौत के बाद भरे थे मेडेन फार्मास्यूटिकल के सैंपल 
गांबिया में 66 बच्चों की मौत का मामला सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा एक अलर्ट जारी किया गया था। हरियाणा के सोनीपत की मेडेन फार्मास्यूटिकल के बनाए गए कफ सिरप से बच्चों की मौत का दावा किया गया था। इस कंपनी का बद्दी में भी एक उद्योग है हालांकि यह फरवरी 2022 से बंद है। इस उद्योग का इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है लेकिन राज्य ड्रग विभाग ने मेडेन फार्मास्यूटिकल मानपुरा बद्दी के सीएसपी (कफ सिरप) के सैंपल लिए, जिसमें से 5 फेल हो गए हैं।  

क्या बोले राज्य दवा नियंत्रक 
राज्य दवा नियंत्रक नवनीत मारवाह ने बताया कि करीब 20 उद्योगों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है। जिन उद्योगों की दवाओं के बार-बार सैंपल फेल हुए हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है। यही नहीं, कई ऐसे उद्योगों के उत्पादन लाइसैंस रद्द किए गए हैं, जिनकी दवाओं के बार-बार सैंपल फेल हो रहे है। 

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!