किसे टिकट देना है और किसे नेतृत्व, यह तय करेगा हाईकमान : धूमल

Edited By Vijay, Updated: 15 May, 2022 08:53 PM

ex cm prem kumar dhumal in solan

पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का मानना है कि कार्यकर्ता ही पार्टी की सबसे बड़ी पूंजी हैं। इनके ऊपर भाजपा का मिशन रिपीट तय है। मुझे प्रदेश में स्पष्ट बहुमत की सरकारें बनाने का श्रेय कार्यकर्ताओं के कारण ही मिला है। पंजाब केसरी से विशेष बातचीत...

सोलन (नरेश पाल): पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल का मानना है कि कार्यकर्ता ही पार्टी की सबसे बड़ी पूंजी हैं। इनके ऊपर भाजपा का मिशन रिपीट तय है। मुझे प्रदेश में स्पष्ट बहुमत की सरकारें बनाने का श्रेय कार्यकर्ताओं के कारण ही मिला है। पंजाब केसरी से विशेष बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री ने बताया कि पार्टी की यात्रा 7 विधायकों के साथ शुरू कर प्रदेश में 3 बार भाजपा की स्पष्ट बहुमत की सरकारें बनी हैं और चौथी बार की तैयारी है। उन्होंने सारा जीवन कार्यकत्र्ताओं के साथ ही बिताया है। कार्यकर्ताओं के बिना पार्टी खड़ी नहीं हो सकती। उन्होंने इस बार विधानसभा चुनाव लड़ने के साफ संकेत दिए हैं। उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया कि नेतृत्व व टिकट हाईकमान तय करेगा। हाईकमान हवा में निर्णय नहीं लेता। चुने हुए विधायकों को पूछा जाता है। उसके बाद ही हाईकमान निर्णय लेता है, जो सभी को मान्य होता है। 

आप के चुनाव लड़ने से भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ता
उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में चुनाव परिणाम आने के 3 दिन बाद चुनाव क्षेत्र में घूमना शुरू कर दिया था। जहां-जहां पार्टी को आवश्यकता होती है, वहां जाता हूं। प्रदेश में डबल इंजन की सरकार बेहतर काम कर रही है। केंद्र की मोदी सरकार व प्रदेश की जयराम सरकार ने अच्छा काम किया है। समाज के हर वर्ग को राहत देने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि कर्मचारी किसी भी सरकार की रीढ़ होते हैं। राजनीतिक नेतृत्व गाइडलाइन व दिशा-निर्देश देता है। इसे लागू करना अधिकारियों व कर्मचारियों का काम होता है। जब तक मिलकर काम नहीं होगा, तब तक शत-प्रतिशत परिणाम नहीं आएंगे। इसलिए उनकी समस्याओं का समाधान करने का सबको प्रयास करना चाहिए। उन्होंने बताया कि आम आदमी पार्टी के चुनाव लड़ने से भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ता। भाजपा को विकास के लिए वोट मिलेगा। प्रदेश में भाजपा की सरकार बनना लगभग तय है। 

सड़क वाले मुख्यमंत्री का टैग मेरे साथ जुड़ा
धूमल ने कहा कि सड़क वाले मुख्यमंत्री का टैग उनके साथ जुड़ा है, जिसका वह सम्मान करते हैं। ऐसा नहीं है कि जब वह पहली बार मुख्यमंत्री बने तो उनके समय में सड़कें ही बनीं। सड़कों का निर्माण युद्धस्तर पर हुआ, यह ठीक है। प्रदेश को औद्योगिक पैकेज भी उनके समय मिला था। विश्व बैंक से कार्बन क्रैडिट प्रोजैक्ट उनके समय में मिला। अब प्रदेश को कार्बन सोखने का विश्व बैंक से पैसा मिल रहा है। विद्युत उत्पादन को बढ़ाने के लिए कई विद्युत परियोजनाएं उनके समय में स्थापित हुईं। शिक्षा की बात की जाए तो उनकी सरकार में प्रदेश में कई विश्वविद्यालयों की स्थापना हुई। कृषि व बागवानी के क्षेत्र में कई कल्याणकारी योजनाएं उनकी सरकार में ही शुरू हुई थीं। प्रदेश को राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न क्षेत्रों में बेहतरीन कार्य करने के लिए प्रदेश को रिकाॅर्ड 85 अवार्ड उनकी सरकार को मिले थे। 

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!