तूफान का कहर: जोगिंद्रनगर में मकान पर गिरा पेड़, लडभड़ोल में घरों व गऊशालाओं की उड़ीं छतें

Edited By Vijay, Updated: 21 May, 2022 06:31 PM

storm havoc in jogindernagar and ladbhadol

मंडी जिले के जोगिंद्रनगर उपमंडल में शुक्रवार रात को आए भयंकर तूफान से जहां एक घर पर पेड़ गिर गया तो वहीं 3 गऊशालाओं, 2 घरों व एक रसोई घर की छत उड़ गई।

जोगिंद्रनगर/लडभड़ोल (लक्की/भारद्वाज): मंडी जिले के जोगिंद्रनगर व लडभड़ोल क्षेत्र में शुक्रवार रात को आए भयंकर तूफान से जहां एक घर पर पेड़ गिर गया तो वहीं 3 गऊशालाओं, 2 घरों व एक रसोई घर की छत उड़ गई। जानकारी अनुसार ग्राम पंचायत नौहली के गांव नौहली गोकलुरी में बीती रात भारी तूफान के चलते दलीप सिंह व प्रवीण कुमार पुत्र स्वर्गीय नागेंद्र सिंह के मकान पर एक पुराना पेड़ गिर गया, जिसके कारण घर पूरी तरह से  क्षतिग्रस्त हो गया है। गनीमत रही कि इस दौरान कोई जानी नुक्सान नहीं हुआ। मकान मालिक दिलीप सिंह ने बताया कि पेड़ गिरने से मकान में दरारें आ गईं तिाा तथा मकान के साथ लगते बाथरूम में टाइलें भी टूट गई हैं। ग्राम पंचायत नौहली के प्रधान अजीत सिंह ने प्रशासन से मांग की है कि क्षतिग्रस्त हुए मकान की रिपोर्ट बनाकर परिवार को उचित मुआवजा दिया जाए।
PunjabKesari, Cowshed Image

वहीं शुक्रवार रात को तूफान ने लडभड़ोल क्षेत्र के विभिन्न स्थानों में भारी कहर बरपाया है। क्षेत्र के चणु, ग्वाला, सेंठी, तैण और नागण में भारी तूफान से 3 गऊशालाओंं, 2 घरों और एक रसोई घर की चादरें उड़ गईं। गनीमत यह रही कि इस दौरान कोई जानी नुक्सान नहीं हुआ है। ग्राम पंचायत दलेड़ के गांव चणु में देर रात आए भारी तूफान के कारण रमेश कुमार पुत्र नारायण की चादरपोश गऊशाला की छत उड़ गई। परिजनों ने गऊशाला के अंदर बंधे मवेशियों को भारी तूफान के चलते हिम्मत कर बाहर निकाला। उन्होंने बताया कि इस दौरान वे घायल होने से बाल-बाल बचे। मौके पर पहुंचे मुहाल बीरू हलका पटवारी जगदीश चंद ने घटनास्थल का जायजा लिया।
PunjabKesari, Cowshed Image

वहीं गांव ग्वाला में भी भारी तूफान के कारण गऊशाला की छत उड़ गई। इस दौरान गऊशाला को भी हल्का नुक्सान पहुंचा है। मौके पर पहुंचे हलका पटवारी हरीश कुमार ने जायजा लेकर रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंप दी है। वहीं सेंठी में देर रात भारी तूफान के कारण प्रीतम सिंह पुत्र तुलसी राम निवासी सेंठी के मकान की छत तेज हवा के कारण उड़ गई। मौके पर पहुंचे बनांदर मुहाल के पटवारी संचित सूद ने घटनास्थल का जायजा लिया। इसके अलावा गांव तैण में एक रिहायशी मकान और एक गऊशाला की चादरें हवा के तेज बहाव से उड़ गईं। इसके अलावा नागण गांव में एक रसोई घर में लगीं चादरें भारी तूफान के कारण उड़ गईं। मामले की पुष्टि स्थानीय तहसीलदार मेघना गोस्वामी ने की है। सभी मामलों की रिपोर्ट बनाकर उच्चाधिकारियों को भेज दी गई है।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!