72 घंटे बाद भी बहाल नहीं हुआ NH-5, भारी-भरकम चट्टानों ने बढ़ाई मुसीबत

Edited By Vijay, Updated: 17 Sep, 2021 11:11 PM

nh 5 not restored after 72 hours

किन्नौर जिला के प्रवेश द्वार चौरा के समीप 14 सितम्बर देर शाम को भारी-भरकम चट्टानों के गिरने से अवरुद्ध हुआ राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 शुक्रवार को लगभग 72 घंटे बाद भी बहाल नहीं हो पाया है। मार्ग के बहाल न होने से पर्यटक, बागवानों व अन्य लोग काफी परेशान...

रिकांगपिओ/रामपुर बुशहर (रिपन/नोगल): किन्नौर जिला के प्रवेश द्वार चौरा के समीप 14 सितम्बर देर शाम को भारी-भरकम चट्टानों के गिरने से अवरुद्ध हुआ राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 शुक्रवार को लगभग 72 घंटे बाद भी बहाल नहीं हो पाया है। मार्ग के बहाल न होने से पर्यटक, बागवानों व अन्य लोग काफी परेशान हैं। एनएच के 3 दिनों तक अवरुद्ध रहने के कारण सड़क मार्ग के दोनों तरफ सैंंकड़ों वाहनों की लम्बी कतारें लगी हैं तथा पर्यटकों तथा बागवानों सहित हजारों लोग एनएच के बहाल होने का इंतजार कर रहे हैं क्योंकि प्रशासन व ग्रिफ द्वारा रोजाना शाम को मार्ग के बहाल करने का आश्वासन दिया जा रहा है परंतु मार्ग बहाल नहीं हो पा रहा है तथा एनएच प्राधिकरण व ग्रिफ द्वारा भी मार्ग को बहाल करने के लिए लगातार मजदूरों व मशीनों के साथ युद्धस्तर पर कार्य किया जा रहा है। बता दें कि पहाड़ी से एनएच पर इतनी भारी-भरकम चट्टानें गिरी हैं कि ग्रिफ व एनएच प्राधिकरण को मार्ग को बहाल करना भी मुसीबत बन चुका है।
PunjabKesari, Surat Negi and People Image

वन निगम के उपाध्यक्ष ने किया अवरुद्ध मार्ग स्थल का दौरा

वहीं शुक्रवार को वन निगम उपाध्यक्ष सूरत नेगी ने भी अवरुद्ध मार्ग स्थल का दौरा कर निरीक्षण किया तथा एनएच प्राधिकरण व ग्रिफ को शीघ्र मार्ग बहाली के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एनएच प्राधिकरण व ग्रिफ  द्वारा मार्ग को बहाल करने के लिए युद्ध स्तर पर कार्य किया जा रहा है, परंतु मार्ग पर इतनी बड़ी चट्टानें गिरी हैं, जिससे मार्ग को बहाल होने में इतना समय लग रहा है। वहीं वैकल्पिक मार्ग न होने के कारण भी हजारों लोग अपने गंतव्य तक न पहुंचने से परेशान व हताश हैं। सभी सड़क मार्ग बहाल होने की राह देख रहे हैं, ऐसे में उक्त स्थान पर खान पान की सुविधा न होने से भी लोगों में प्रशासन व सरकार के प्रति रोष है।
PunjabKesari, Traffic Jam Image

बागवानों की बढ़ी चिंताएं

मुख्य मार्ग के अवरुद्ध होने से जिले की नकदी फसल सेब व मटर से भरे कई सेब के छोटे व बड़े वाहन सड़क मार्ग पर फंसे हैं, जिससे जिला किन्नौर के बागवानों की ङ्क्षचताएं भी बढ़ गई हैं। वहीं जिला किन्नौर के ऊपरी क्षेत्र में सड़क मार्ग अवरुद्ध होने से पैट्रोल व डीजल की भी किल्लत बढ़ी है, तो वहीं संचार व्यवस्था भी मार्ग बहाल करने के लिए की जा रही बार-बार ब्लाटिंग से भी प्रभावित हो रही है, जिससे लोगों को बैंक के कार्यों व ऑनलाइन किए जाने वाले सभी कार्य के ठप्प होने से परेशानियों से दो चार होना पड़ रहा है। अवरुद्ध मार्ग में फंसे सैंकड़ों लोगों सहित बागवानों और किसानों को सड़क बहाल होने का इंतजार है ।

चौरा पंचायत ने की भोजन की व्यवस्था

वहीं तीसरे दिन भी जब एनएच बहाल नहीं हुआ था तो चौरा पंचायत में मानवता की मिसाल पेश करते हुए पंचायत प्रधान विजय नेगी की अगुवाई में शुक्रवार को पंचायत वासियों सहित भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर सैंकड़ों लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था भी की तथा अवरुद्ध मार्ग में फंसे लोगों को नि:शुल्क भोजन वितरित किया, जिस पर लोगों ने पंचायत वासियों का आभार व्यक्त किया।

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!