लैंड सीलिंग एक्ट में बदलाव किए बिना धन्नासेठों को हिमाचल बेचने में लगी है जयराम सरकार : मुकेश अग्निहोत्री

Edited By Vijay, Updated: 08 May, 2022 10:13 PM

mukesh agnihotri target on jairam government

हिमाचल की जयराम सरकार धन्नासेठों की सरकार है और धन्ना सेठों को हिमाचल बेचने के बार-बार प्रयास जयराम सरकार कर रही है। पहले पर्यटन विभाग के होटल बेचने में लगी हुई जयराम सरकार अब लैंड सीलिंग एक्ट में बदलाव किए बिना, विधानसभा में मामला पहुंचाए बिना और...

ऊना (सुरेन्द्र): हिमाचल की जयराम सरकार धन्नासेठों की सरकार है और धन्ना सेठों को हिमाचल बेचने के बार-बार प्रयास जयराम सरकार कर रही है। पहले पर्यटन विभाग के होटल बेचने में लगी हुई जयराम सरकार अब लैंड सीलिंग एक्ट में बदलाव किए बिना, विधानसभा में मामला पहुंचाए बिना और राष्ट्रपति की मंजूरी के बिना होटलों-रिजॉर्ट को जमीनों बाबत छूट देने की तैयारी कर रही है। यह बात जिला मुख्यालय पर पत्रकार वार्ता करते हुए नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कही। उन्होंने कहा कि जमीनों का मामला राजस्व विभाग का होता है लेकिन राजस्व विभाग ने कोई नोटिफिकेशन नहीं निकाली। जयराम सरकार ने उद्योग विभाग से छोटी सी नोटिफिकेशन निकलवाई और उसी के सहारे होटलों-रिजॉर्ट को 150 बीघा जमीन रखने का अधिकार देने की कवायद में जुट गई है।

क्या केंद्र की सरकार का कोई दवाब है या किसी धन्नासेठ से सांठगांठ?
मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि वाईएस परमार ने केवल इसी के चलते लैंड सीलिंग एक्ट लागू किया था कि हिमाचल की जमीन पर बाहरी लोगों की नजरें थीं और बाहर के धन्नासेठ रुपए के बल पर हिमाचल की जमीन ले जाते। इस एक्ट में बदलाव किए बिना मुख्यमंत्री किसको लाभ पहुंचाने के लिए पूरी कवायद चला रहे हैं? क्या केंद्र की सरकार का कोई दवाब है या किसी धन्नासेठ से सांठगांठ है? किन पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाया जा रहा है? अग्रिहोत्री ने कहा कि यह घोटालों की सरकार है और धन्ना सेठों को फायदा पहुंचाने में हिमाचल को एकमुश्त बेचने पर तुली हुई है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में 68 विधायक किसलिए बिठाए गए हैं? क्यों यह मामला चर्चा के लिए विधानसभा तक पहुंचाया नहीं गया? क्यों एक उद्योग विभाग की नोटिफिकेशन के सहारे हिमाचल की जमीन को बाहरी लोगों पर लुटाने की तैयारी कर ली गई? 

पूरे प्रदेश की सुरक्षा मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी
तपोवन विधानसभा की दीवारों पर रात के अंधेरे में खालीस्तान के स्लोगन लिखने के मुख्यमंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए नेता विपक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री को पता होना चाहिए कि चाहे दिन हो या रात हो, पूरे प्रदेश की सुरक्षा मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी है। दिन-रात कहते हुए वह अपनी जिम्मेदारी से पल्ला नहीं झाड़ सकते हैं। ऊना में भी खालीस्तानी झंडे लहराए गए थे और यदि उस समय जांच सही तरह से होती और सरकार जागती तो तपोवन में यह नहीं हो पाता। 

धमकियोंं के बाद जयराम ने प्रदेश की बजाय सिर्फ अपनी सुरक्षा बढ़ाई 
मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि आतंकी धमकियां आने के बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने केवल अपनी सुरक्षा बढ़ाने और खुद को सुरक्षित करने के लिए सुरक्षा बढ़ाई व गाड़ियां लीं लेकिन प्रदेश की सुरक्षा के लिए कुछ नहीं किया जिसका नतीजा तपोवन में देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि आखिर प्रदेश की पुलिस और सीआईडी कहां है? सरकार ने क्या इनको केवल राजनीतिक प्रभाव वाले मामले दर्ज करने के लिए रखा है? पुलिस चाहे तो प्रदेश में कोई ऐसी वारदात नहीं हो सकती।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here
 

Related Story

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!