चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए नियमों को बदल रही IIT, प्रबंधन बोला- आरोपों की होगी जांच

Edited By Ekta, Updated: 23 May, 2018 12:59 PM

iit statement on allegation

आईआईटी मंडी के जूनियर असिस्टेंट सुजीत स्वामी द्वारा प्रबंधन पर लगाए गए आरोपों की जांच होगी। यह बात खुद आईआईटी के कार्यकारी रजिस्ट्रार विशाल सिंह चौहान ने कही है। उन्होंने कहा कि उन्हें खुद इन आरोपों की जानकारी मीडिया से मिली है और आरोप काफी ज्यादा...

मंडी (नीरज): आईआईटी मंडी के जूनियर असिस्टेंट सुजीत स्वामी द्वारा प्रबंधन पर लगाए गए आरोपों की जांच होगी। यह बात खुद आईआईटी के कार्यकारी रजिस्ट्रार विशाल सिंह चौहान ने कही है। उन्होंने कहा कि उन्हें खुद इन आरोपों की जानकारी मीडिया से मिली है और आरोप काफी ज्यादा हैं। उन्होंने कहा कि अभी तो उनके पास इसकी पूरी डिटेल मौजूद नहीं हैं लेकिन जो भी आरोप लगाए गए हैं उनकी पूरी तरह से जांच पड़ताल करवाई जाएगी।
PunjabKesari

उल्लेखनीय है कि जूनियर असिस्टेंट सुजीत स्वामी ने आरटीआई के तहत प्राप्त जानकारियों के आधार पर प्रेस वार्ता करके खुलासा किया था कि किस प्रकार से आईआईटी प्रबंधन चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए नियमों को बदल रहा है। व्यक्ति विशेष के बेटे और बहू को नौकरी पर रखा गया है। कांट्रेक्ट पर होने के बाद भी 25 प्रतिशत के बजाय 200 प्रतिशत तक वेतन में बढ़ोतरी की जा रही है।


पहले 24 लोग सिलेक्ट किए जाते हैं लेकिन बाद में चहेते को अडजेस्ट करने के लिए लिस्ट में 25 लोगों के नाम आ जाते हैं। रिटन टेस्ट में टॉप करने वाले को दरकिनार किया जाता है और कम नंबर वाले को पर्सनल इंटरव्यू में ज्यादा नम्बर देकर नौकरी दी जाती है। निचले स्तर के कर्मचारियों को नियमों का हवाला दिया जा रहा है लेकिन चहेतों के लिए यही नियम ताक पर रखे जा रहे हैं। इन सब बातों को लेकर सुजीत स्वामी ने जो आरोप लगाए हैं उससे आईआईटी मंडी की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान उठ रहे हैं।

Related Story

Trending Topics

Afghanistan

134/10

20.0

India

181/8

20.0

India win by 47 runs

RR 6.70
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!