हिमाचल में Monsoon की दस्तक से पहले सरकार अलर्ट, PWD में फील्ड स्टाफ की छुट्टियां बंद

Edited By Vijay, Updated: 19 Jun, 2022 08:16 PM

field staff holidays closed in pwd

मानसून की दस्तक से पहले ही सरकार अलर्ट हो गई है, ऐसे में लोक निर्माण विभाग ने फील्ड स्टाफ की छुट्टियां बंद कर दी हैं। इन कर्मचारियों को विशेष परिस्थितियों में ही छुट्टी दी जाएगी। छुट्टी के लिए कर्मचारी को इसकी सूचना पहले उच्च अधिकारी को कारण सहित...

शिमला (भूपिन्द्र): मानसून की दस्तक से पहले ही सरकार अलर्ट हो गई है, ऐसे में लोक निर्माण विभाग ने फील्ड स्टाफ की छुट्टियां बंद कर दी हैं। इन कर्मचारियों को विशेष परिस्थितियों में ही छुट्टी दी जाएगी। छुट्टी के लिए कर्मचारी को इसकी सूचना पहले उच्च अधिकारी को कारण सहित देनी होगी। छुट्टियां जून के अंतिम सप्ताह से अगस्त तक बरसात के समाप्त होने तक नहीं मिलेगी। साथ ही विभाग ने सभी अधिकारियों को अभी से ही अलर्ट रहने की भी हिदायत दी है, ताकि किसी भी आपदा के समय तत्काल स्थिति से निपटा जा सके। राज्य में सरकार ने मानसून के दौरान बारिश से होने वाले नुक्सान को कम करने तथा लोगों को तत्काल राहत देने के लिए अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके तहत सभी संबंधित विभागों को अपने-अपने स्तर पर तैयारियां करने को कहा गया है।

लोक निर्माण विभाग को होता है ज्यादा नुक्सान
इसी कड़ी में लोक निर्माण विभाग ने भी कदम उठाने शुरू कर दिए हैं क्योंकि मानसून के दौरान सबसे अधिक नुक्सान लोक निर्माण विभाग को ही होता है। बरसात में भूस्खलन के कारण सड़कों के अवरुद्ध होने के साथ-साथ कई बार सड़कें टूट तक जाती हैं। इन्हें बहाल करने में लोक निर्माण विभाग की अहम भूमिका रहती है। इसलिए विभाग ने सभी फील्ड स्टाफ की छुट्टियों को बंद कर दिया है साथ ही संवेदनशील स्थानों पर मशीनरी भी तैनात की गई है। इसके अलावा अधिकारियों को आवश्यकता पडऩे पर ठेकेदारों से मशीनरी किराए पर लेने की भी हिदायत दी गई है, ताकि अवरुद्ध होने की स्थिति में सड़कों को जल्द से जल्द बहाल किया जा सके।

गत वर्ष बरसात से हुआ 139 करोड़ रुपए का नुक्सान
हिमाचल प्रदेश में बरसात के दिनों में भारी नुक्सान होता है। भारी बरसात से भूस्खलन होने से सड़क मार्ग अवरुद्ध हो जाते हैं तो कई स्थानों पर सड़कों की नालियां व नाले बंद होने से लोगों के घरों में पानी घुस जाता है। गत वर्ष प्रदेश में बरसात के कारण 139 करोड़ रुपए से अधिक का नुक्सान हुआ था।

जल शक्ति विभाग ने जल रक्षकों की छुट्टियां की हैं बंद
जल शक्ति विभाग ने पहले ही जल रक्षकों व अन्य फील्ड में तैनात कर्मचारियों की छुट्टियां बंद की हुई है। पहले सूखे को देखते हुए इनकी छुट्टियां बंद की हुई थीं, अब बरसात से पेयजल स्त्रोतों व पाइपों को होने वाले नुक्सान को देखते हुए छुट्टियां बंद की हुई हैं। गत वर्ष बरसात से जल शक्ति विभाग को 75 करोड़ से अधिक का नुक्सान हुआ था।

हिमाचल की खबरें Twitter पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here
अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!