कोरोना महामारी में साइलेंट वारियर बने सांसद रामस्वरूप

Edited By prashant sharma, Updated: 02 Jun, 2020 03:20 PM

ramswaroop becomes silent warrior in corona epidemic

सांसद रामस्वरूप शर्मा को कोरोना महामारी में सकारात्मकता और आशा की भावना का प्रचार करने और पर्दे के पीछे रहकर मूक योद्धा के रूप में काम करने के लिए वैश्विक पहचान मिली है।

मंडी : सांसद रामस्वरूप शर्मा को कोरोना महामारी में सकारात्मकता और आशा की भावना का प्रचार करने और पर्दे के पीछे रहकर मूक योद्धा के रूप में काम करने के लिए वैश्विक पहचान मिली है। इस कार्य के लिए वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स-लंदन (यूके) द्वारा मंडी से दूसरी बार सांसद बने रामस्वरूप शर्मा के काम को मान्यता दी गई है और प्रमाणपत्र भेजकर इसकी सराहना भी की है। वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स-लंदन (यूके) के प्रेजिडेंट संतोष शुक्ला ने इसकी घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेजे एक पत्र में करते हुए कहा है कि कोविड 19 के दौर में देशभर के सांसदों के कामकाज पर एक ऑनलाइन सर्वे किया और उस आधार पर सांसदों के अपने फेसबुक पेज, सोशल मीडिया सर्कल और समाचार पत्रों व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया कवरेज से प्राप्त जानकारी में कुछ सांसदों का काम बेहतर आंका गया है। जिसमें मंडी के सांसद रामस्वरूप शर्मा के काम सबसे प्रशंसनीय है। इस अवधि के दौरान प्रकाशित किए जा रहे स्टार 2020 एडिशन में  बेहतर काम करके दिखाने वालों के नाम शामिल किए जा रहे हैं। इस आशय का प्रमाण पत्र सांसद रामस्वरूप शर्मा को भी भी भेजा गया है जिसकी पुष्टि स्वयं रामस्वरूप शर्मा ने भी की है। 
PunjabKesari
बताया जा रहा कि जल्द एक बड़े समारोह में उपरोक्त संस्था कोविड-19 के सराहनीय सेवाएं देने वाले फ्रंट लाइन योद्धाओं और जनता के बीच काम करने वाले योद्धायों को सम्मानित करेगी। बता दें कि सांसद रामस्वरूप शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर सबसे पहले 50 लाख रुपए अपने संसदीय क्षेत्र में महामारी से निपटने के लिए प्रशासन को दिए और उसके बाद प्रधानमंत्री केयर फण्ड में एक करोड़ रूपए सांसद निधि से भी दिए। इसके बाद उन्होंने श्री लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज एवं समर्पित कोविड अस्पताल नेरचौक को एक एंबुलेंस देने के अलावा एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के माध्यम से 10 लाख रुपए पीपीई किट व अन्य उपकरणों की खरीद के लिए, जोनल अस्पताल मंडी व कुल्लू के लिए एक-एक स्टाफ व्हीकल दिए। यही नहीं क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू को 10 लाख रुपए एनएचपीसी से दिलाए व जोगिन्दरनगर सिविल अस्पताल के लिए भी 15 लाख रुपए सतलुज जल विद्युत निगम से उपलब्ध करवाए। भारतीय जनता पार्टी संगठन की ओर से भी फ्रंट लाइन कोरोना वॉरियर्स व गांव के लोगों को मास्क व सेनिटाइजर बांटे। 

उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से मंडल स्तर पर भी जूम बैठकें ऑनलाइन कर इस महामारी में लोगों का मनोबल बढ़ाने और सेवा करने का आह्वान किया। गरीब परिवारों व प्रवासी मजदूरों को राशन व उनके घर जाने के लिए मदद सहित बाहर से आने वाले अपने क्षेत्र के लोगों से लगातार संपर्क कर घर पहुंचाया। जोगिन्दरनगर, नेरचौक, मंडी, कुल्लू और करसोग में कोरोना योद्धाओं जिसमें डॉक्टर, नर्सें, सफाई कर्मचारी, पुलिस और प्रशासनिक टीम का फूलों से स्वागत करना शामिल है। सांसद ने अपने संसदीय क्षेत्र के सभी 17 विधानसभा क्षेत्रों से भी कार्यकर्ताओं से राशि एकत्र कर के संबंधित विधायकों के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भी कोविड फण्ड में खर्च के लिए सौंपी और प्रधानमंत्री केअर में भी जमा करवाई।
 

Related Story

Trending Topics

Pakistan

137/8

20.0

England

138/5

19.0

England win by 5 wickets

RR 6.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!