पंचायत प्रधानों ने दी ग्राम सभाओं के बहिष्कार की चेतावनी

Edited By Kaku Chauhan, Updated: 05 Jul, 2022 04:55 PM

panchayat heads warned of boycott of gram sabhas

विकास खंड तीसा में जिला परिषद कर्मचारियों की हड़ताल जारी है। वहीं कर्मचारियों के समर्थन में तीसा विकास खंड के समस्त प्रधान व उपप्रधान उतर आए हैं। कर्मचारियों की हड़ताल से पंचायतों के समस्त काम ठप पड़े हुए है। वहीं पंचायतों में लोगों को अपने काम काज...

तीसा (सुभानदीन): विकास खंड तीसा में जिला परिषद कर्मचारियों की हड़ताल जारी है। वहीं कर्मचारियों के समर्थन में तीसा विकास खंड के समस्त प्रधान व उपप्रधान उतर आए हैं। कर्मचारियों की हड़ताल से पंचायतों के समस्त काम ठप पड़े हुए है। वहीं पंचायतों में लोगों को अपने काम काज करवाने में भी काफी दिक्कतें आ रही है। पंचायती राज विभाग जुलाई माह में ग्राम सभाएं आयोजित करवा रहा है, लेकिन अधिकतर पंचायत सचिव हड़ताल पर चल रहे जिस कारण विभाग द्वारा ग्राम सभा के आयोजन के लिए सिलाई अध्यापिका, ग्राम रोजगार सेवक व पंचायत चौकीदारों को कार्यभार दिया है। इस पर तीसा विकास खंड के प्रधानों ने इसका विरोध किया। विभाग के इस निर्णय के विरोध में मंगलवार को पंचायत प्रधानों के प्रतिनिधिमंडल ने बी.डी.ओ तीसा व विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ हंसराज को एक ज्ञापन सौंपा।

प्रधान संगठन तीसा ने ज्ञापन के माध्यम से सरकार को चेताया है कि जब तक जिप कर्मचारियों की मांग पूर्ण नहीं होती है तब तक न ग्राम सभा करेंगे न मासिक बैठक होगी। प्रधानों ने बताया कि हड़ताल के चलते पंचायत कार्यालयों में कामकाज काफी प्रभावित हो रहा है। इसके साथ ही मनरेगा, जन्म-मृत्यु, विवाह प्रमाण, परिवार नकल, बी.पी.एल., राशन कार्ड, विवाह पंजीकरण के लिए लोग पंचायतों में पहुंच रहे हैं, लेकिन कर्मचारियों की पैन डाउन हड़ताल के चलते उन्हे निराशा ही हाथ लग रही हैं। वहीं पंचायती राज विभाग द्वारा समस्या का समाधान करने के बजाए पंचायत प्रणाली का मजाक बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मांगें पूरी न होने तक वे ग्राम सभा व मासिक बैठकों का बहिष्कार करेंगे। पंचायतों में तैनात मुख्य स्टाफ पंचायत सचिव, तकनीकी सहायक, जेई है। इनमें से 90 फीसद स्टाफ जिला परिषद के तहत आता है, 90 फीसद स्टाफ के स्ट्राइक पर होने से पंचायतों में काम रूक गए हैं।

इस मौके पर विकास खंड तीसा के प्रधान कृष्णा महाजन, रशीद मुहम्मद, ध्यान सिंह, जन्म सिंह, पवन कुमार, कुतब दीन, गुलाम रसूल,धनपत,जय सिंह राम लाल,चमन सिंह,जावेद मुहम्मद, अनिल कपूर,शरीफ मुहम्मद, व अन्य का कहना है कि जिला परिषद के कर्मचारियों की हड़ताल 10 दिन से जारी है। हड़ताल से लोगों के कोई काम नहीं हो पा रहे है। ग्राम सभाओं में पंचायत सचिव के न होने के लोगों को लाभ नहीं हो पाएगा। परिवार रजिस्टर में नाम दर्ज करवाना, परिवार विभाजन करवाना, आय व्यय का ब्यौरा रखना, बी.पी.एल. सूची में नाम दर्ज करवाना, नए राशन कार्ड, राशन कार्ड में सदस्य दर्ज करना ये सभी काम पंचायत सचिवों की ओर से किए जाते हैं। ऐसे में जिप कर्मचारी हड़ताल पर होने के कारण ग्राम सभा के आयोजन से प्रधानों द्वारा किनारा किया जाएगा। प्रधानों में सरकार से मांग की है कि जल्द कर्मचारियों की मांग को प्राथमिकता के आधार पर उनका विभाग में विलय किया जाए, ताकि पंचायतों मे रुके कार्य गति पकड़ सके।  

 

Trending Topics

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!