एच.पी.यू. की ई.सी. की बैठक में पेश होगी कर्मचारियों के खाली पदों की रिपोर्ट

Edited By Kuldeep, Updated: 12 Feb, 2024 05:34 PM

shimla hpu vacant post report

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एच.पी.यू.) के विभिन्न विभागों व शाखाओं में कर्मचारियों के पदों को भरने की प्रक्रिया आगे बढ़ाने के लिए खाली पदों की रिपोर्ट आगामी कार्यकारी परिषद (ई.सी.) में पेश होगी।

शिमला (अभिषेक): हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय (एच.पी.यू.) के विभिन्न विभागों व शाखाओं में कर्मचारियों के पदों को भरने की प्रक्रिया आगे बढ़ाने के लिए खाली पदों की रिपोर्ट आगामी कार्यकारी परिषद (ई.सी.) में पेश होगी। विश्वविद्यालय प्रशासन ने बीते वर्ष विभिन्न विभागों व शाखाओं से कर्मचारियों के खाली पदों का ब्यौरा मांगा था और सूत्रों के अनुसार पदों का पूरा ब्यौरा आने के बाद आगामी 22 फरवरी को होने वाली ई.सी. की बैठक में विस्तृत रिपोर्ट पेश होगी। जिन विभागों व शाखाओं में पद भरने की सबसे अधिक जरूरत, उन्हें पहले भरा जाएगा और रिपोर्ट के माध्यम से भी इसी संदर्भ में जानकारी मांगी गई है। इस रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद ई.सी. में कर्मचारियों के खाली पदों को चरणबद्ध तरीके से भरने को लेकर निर्णय होगा। यहां बता दें कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने साढ़े 3 वर्ष पहले कर्मचारियों के 274 पदों को विज्ञापित किया था। जून 2020 के बाद सितम्बर 2021 और जनवरी 2022 में इन पदों को विज्ञापित किया जाता रहा, लेकिन भर्ती प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ी। इसके बाद बीते वर्ष अगस्त माह में हुई ई.सी. की बैठक में कर्मचारियों के रिक्त पदों का ब्यौरा मांगा गया था। इसके बाद मामले से जुड़ी रिपोर्ट अब अगली ई.सी. की बैठक में पेश होगी। इन पदों के लिए हजारों उम्मीदवार आवेदन भी कर चुके हैं और अब लिखित परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं। इसके अलावा विश्वविद्यालय में कार्यरत कर्मचारी भी भर्ती प्रक्रिया शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। इसके अलावा ई.सी. की बैठक में आऊटसोर्स कर्मचारियों से जुड़े मामले को लेकर भी चर्चा होगी।

कर्मचारियों की जे.सी.सी. ने भर्ती प्रक्रिया शुरू न करने पर दी आंदोलन की चेतावनी
हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में कर्मचारियों की कर्मचारी संयुक्त समन्वय समिति (जे.सी.सी.) ने कर्मचारियों के खाली पदों को भरने की मांग को लेकर आंदोलन की चेतावनी दी है। इस मांग को लेकर लंबे समय से संघर्षरत कर्मचारी वर्ग में रोष बढ़ गया है। जे.सी.सी. जल्द मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से इस मामले को लेकर मिलेगी। बीते दिनों पूर्व जे.सी.सी. के अध्यक्ष राजेश ठाकुर की अध्यक्षता में सुनील दत्त शर्मा, नरेश कुमार शर्मा, ललित कुमार, मोहन लाल, सुरेन्द्र सिंह वर्मा, देविंद्र शर्मा, काबुल सिंह, चांदी राम, हेम राज भाटिया, राम लाल, दीपक दीवान, नीम चंद, दीप राम, ललित सिंह, ई.सी. सदस्य गीता राम व यूनिवर्सिटी कोर्ट सदस्य देवेंद्र कुमार ने कर्मचारियों के विभिन्न वर्ग व श्रेणियों के विज्ञापित पदों को भरने के लिए विश्वविद्यालय के प्रो-वाइस चांसलर प्रो. राजेंद्र वर्मा व रजिस्ट्रार डा. वीरेंद्र शर्मा के अलावा शिक्षा सचिव, वित्त सचिव व विधायक हरीश जनारथा के समक्ष उठाया है। विधायक ने कर्मचारियों की जे.सी.सी. के प्रतिनिधियों को आश्वासन दिया है कि वे मामले को मुख्यमंत्री के समक्ष रखेंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षक व कर्मचारी वर्ग की तुलनात्मक भर्ती प्रक्रिया में भेदभाव हो रहा है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों के पदों को भरा नहीं जा रहा है और शिक्षकों के पद भरने की प्रक्रिया लगातार जारी है।

एस.एफ.आई. ने कुलपति कार्यालय के बाहर दिया धरना
एस.एफ.आई. ने सोमवार को विभिन्न मांगों को लेकर हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय परिसर में धरना दिया। कुलपति कार्यालय के बाहर एकत्रित होकर एस.एफ.आई. कार्यकर्त्ताओं ने धरना देते हुए विश्वविद्यालय में कर्मचारियों के पदों को भरने की मांग उठाई। एस.एफ.आई. के विश्वविद्यालय इकाई अध्यक्ष संतोष व इकाई सचिव सन्नी सेकटा ने कहा कि कर्मचारियों के पदों को भरने की मांग एस.एफ.आई. लंबे समय से उठा रही है, लेकिन इन पदों को भरा नहीं जा रहा है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में आऊटसोर्स के जरिए की जा रही भर्तियों का संगठन विरोध करता है और इसे रोकने की मांग करता है। उन्होंने कहा कि पूर्व में कर्मचारियों के रिक्त पदों को भरने के लिए कई पदों को विज्ञापित किया गया, लेकिन भर्ती प्रक्रिया अब तक आगे नहीं बढ़ी है। उन्होंने कहा कि एस.एफ.आई. विश्वविद्यालय प्रशासन को चेतावनी देती है कि अगर जल्द कर्मचारियों के रिक्त पदों की भर्तियों को लेकर कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया तो आंदोलन शुरू किया जाएगा।

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!