भयानक हादसा : मकान बना श्मशान, जिंदा जल गया मेहमान

  • भयानक हादसा : मकान बना श्मशान, जिंदा जल गया मेहमान
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, April 20, 2017-8:32 PM

पंडोह: पंडोह के सकरैणी गांव में मिट्टी तेल के लैंप से मकान में बुधवार रात 11 बजे अचानक आग लग गई। इस घटना में एक व्यक्ति जिंदा जल गया। बताया जा रहा है कि आग लकड़ी के बने कच्चे मकान के किचन से भड़की। उस कमरे में घर में मेहमान बनकर आया व्यक्ति सोया हुआ था जबकि मकान मालिक अंदर के कमरे में सोया था। मकान मालिक ने आग की लपटें देख छलांग लगाकर अपनी जान बचा ली। यह घटना पंडोह के सकरैणी गांव में बुधवार की रात को किशन चंद के मकान में घटी। मकान में आग लगने से स्यांज-जागर निवासी माया राम पुत्र सेतू राम (62) आग की चपेट में आ गया। जब तक आग पर काबू पाया गया तब तक वह जल चुका था।

PunjabKesari

देवदार की लकड़ी से बना था पूरा मकान
पंडोह चौकी प्रभारी हेम राज ने बताया कि माया राम पंडोह में अपने मामा किशन चंद के घर मेहमान बनकर आया था। रात को वह किचन में लैंप जलाकर सोया था और इस बीच दोमंजिला मकान जोकि पूरा देवदार की लकड़ी से बना था, उसमें आग लग गई। पूरा मकान चंद मिनटों में ही जलकर राख हो गया, जिसकी चपेट में माया राम भी आ गया। चौकी प्रभारी ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए मंडी भेज दिया गया है।

एक भूल ने ले ली जान
बताया जा रहा है कि माया राम दिव्यांग था और चलने फिरने में उसे दिक्कत आती थी। जब वह रात को अपने मामा के साथ घर में खाना खाने के बाद किचन में सोया तो लंैप बुझाना भूल गया और यही भूल उसकी मौत का कारण बन गई। जानकारी के मुताबिक किशन चंद के साथ वाले पक्के मकान में किशन चंद की बेटी और दामाद रहते हैं, जिन्होंने आग लगते ही शोर मचाया और लोगों को आग बुझाने के लिए मौके पर बुलाया।   

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !