Subscribe Now!

यहां खुले दरवाजे व चाय की चुस्कियों के साथ दौड़ाई जा रहीं बसें

  • यहां खुले दरवाजे व चाय की चुस्कियों के साथ दौड़ाई जा रहीं बसें
You Are HereHimachal Pradesh
Wednesday, January 24, 2018-2:13 AM

ऊना: सड़क पर चलती बस, खुले दरवाजे और चाय की चुस्कियों के साथ बस कंडक्टर। जी जनाब, कुछ ऐसे ही हालात सड़कों पर देखने को हर रोज मिलते हैं। सड़क हादसों से भी सबक नहीं लिया जा रहा है। सड़कों पर उदंडता खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। यह खुले दरवाजे सड़क पर किसी के लिए भी खतरनाक साबित हो सकते हैं परन्तु इसके बावजूद यह क्रम थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसा लगता है कि कोई भय ही नहीं है।

हर रोज देखने को मिलता है ऐसा नजारा
बस अड्डे से बसें निकलती हैं तो कुछ इसी कद्र हर रोज नजारा देखने को मिलता है। शहर के बीच प्राइवेट बसें यंू ही चलती हुई दिखाई देती हैं। हाथ में कंडक्टर चाय का डिस्पोजल गिलास पकड़ खिड़की खुली रखता है, मानों वह कोई करतब दिखाकर लोगों का मनोरंजन कर रहा हो। भले ही यह दरवाजा किसी राहगीर को अपनी चपेट में ले या सड़क पर चलती हुई कोई गाड़ी या दोपहिया वाहन इसकी चपेट में क्यों न आ जाए। 

जहां मन किया वहीं लगा दी ब्रेक
भले ही निजी बसें यात्रियों के लिए आवागमन का बड़ा साधन बन गई हैं परन्तु इन बसों के चलते सड़कों पर अनुशासनहीनता भी खूब देखने को मिलती है। जिधर चाहा वहां ब्रेक लगाई या फिर बिना स्टाफ के सड़क के बीच ही सवारियों को उतारने व चढ़ाने का क्रम शुरू कर दिया जाता है। बसों के अंदर मनाही के बावजूद ऊंची आवाज में गाने तो अधिकतर समय धुएं के छल्ले भी उड़ाए जाते हैं। कहीं एक हाथ में स्टेयरिंग तो दूसरे में मोबाइल भी देखने को मिलता है। दिक्कत उस समय होती है जब सड़क पर चलती हुई ये प्राइवेट बसें सवारियों को चढ़ाने और उतारने के लिए एकाएक सड़क के मध्य ही ब्रेक लगा देती हैं। कई हादसे इसी वजह से भी सामने आते हैं। 

कभी-कभार ही होती है कार्रवाई
हालांकि प्राइवेट बसों में नियमों के पालन के लिए पुलिस के साथ-साथ क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण भी मौजूद होता है परन्तु कभी-कभार ही कार्रवाई होती है। जरूरत इस बात की है कि सड़कों पर दौड़तीं इन बसों को नियमों का पाठ पढ़ाया जाए। ड्राइवर और कंडक्टर के लिए 6 माह में एक बार रिफ्रैशमैंट कोर्स हों। नियमों का सख्ती से पालन हो ताकि सड़कों पर उदंडता खत्म हो सके। 

चलती बस से खिड़की खोलकर लगाई आवाज तो होगी कार्रवाई
डी.एस.पी. हैडक्वार्टर कुलविन्द्र सिंह ने बताया कि ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। यदि कोई परिचालक चलती बस में खिड़की खोलकर आवाजें लगाते हुए पकड़ा गया तो उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। पुलिस का प्रयास है कि रैड लाइट चौक के आसपास कोई बस न रुके। इसके लिए वहां पुलिस को भी तैनात किया गया है।    


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन