सेना भर्ती में अब नहीं चलेगी धांधली, दलालों की दुकान होगी बंद

  • सेना भर्ती में अब नहीं चलेगी धांधली, दलालों की दुकान होगी बंद
You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, November 14, 2017-3:57 PM

ऊना: सेना भर्ती में किसी भी तरह की अब धांधली नहीं चलेगी। भर्ती में अब दलालों की दुकान बंद होने वाली है। बताया जाता है कि भारतीय सेना ने राज्य में हो रही सैन्य भर्ती में पहली बार डिजिटल बैंड का इस्तेमाल शुरू कर दिया है। वहीं ऊना में चल रही भर्ती रैली में अभ्यर्थियों को बाकायदा डिजिटल बैंड लगाने के बाद ही मैडिकल के लिए एंट्री दी जा रही है। डिजिटल बैंड में बायोमेट्रिक सिस्टम के अलावा अभ्यर्थी के रेटीना मार्क भी निरापद किए जाएंगे, जो यूएफआईडी सर्वर में अपलोड रहेगा।


इस बार सेना भर्ती में 29 हजार युवाओं ने आवेदन किया
भर्ती में अव्यवस्था और अन्य प्रकार की संभावित धांधली से बचने के कारण यह प्रयोग किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि इस बार ऊना में 6 जिलों की भर्ती में 29 हजार युवाओं ने आवेदन किया है। सेना ने भर्ती होने आए युवाओं का पहली बार ड्रग टेस्ट भी करवाया जा रहा है। इनमें ग्राउंड पास करने वालों को सेना की ओर से डिजीटल बैंड जारी किए जा रहे हैं। सेना भर्ती अधिकारी कर्नल संजय चावला ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि भर्ती में किसी प्रकार की धांधली के चलते ही इस बार सेना ने नया प्रयोग करते हुए डिजिटल बैंड समेत डोप टेस्ट को अपनाया है।


भर्ती के लिए दौड़े हमीरपुर के युवा 
इंदिरा मैदान में सेना के लिए चल रही भर्ती प्रक्रिया में हजारों की संख्या में युवाओं ने पसीना बहाया। सोमवार को 328 युवा ही मैदान में पास हुए। हालांकि इस भर्ती प्रक्रिया के लिए 4300 युवाओं ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाई थी। स्क्रीनिंग टेस्ट और मैडिकल टेस्ट में सफल प्रतिभागियों की भर्ती मेरिट के आधार पर ही होगी। हमीरपुर के निदेशक कर्नल संजय चावला ने बताया कि 14 नवंबर को ऊना के युवाओं के लिए भर्ती प्रक्रिया होगी।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!