भारत को मैडल दिलाने वाली होनहार बेटी पहुंची पैतृक गांव, ऐसे हुआ स्वागत (Watch Video)

You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, January 13, 2018-6:11 PM

मनाली: फिश द्वारा तुर्की में आयोजित स्कीइंग प्रतियोगिता में भारत को मैडल दिलाने वाली मनाली की आंचल ठाकुर जब अपने गांव बुरूआ पहुंची तो बुरूआ पंचायत प्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने आंचल का जोरदार स्वागत किया गया। आंचल के बुरूआ पहुंचते ही पूरा गांव वाद्य यंत्रों से गूंज उठा। आंचल के स्वागत को हजारों ग्रामीण बुरूआ में एकत्रित हुए थे। इससे पहले हिमाचल प्रदेश विंटर गेम्स एसोसिएशन, ऑटो यूनियन, टैक्सी यूनियन, वोल्वो यूनियन सहित समस्त संगठनों के पदाधिकारियों ने आंचल ठाकुर का मनाली पहुंचने पर पारंपरिक रूप से स्वागत किया। महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष धनेश्वरी ठाकुर ने आंचल का स्वागत करते हुए कहा कि आंचल ने मनाली ही नहीं देश का नाम रोशन किया है। 
PunjabKesari
अगला लक्ष्य शीतकालीन खेलों में मैडल दिलाना 
हिमाचल प्रदेश विंटर गेम्स एसोसिएशन सहित समस्त संगठनों का आभार व्यक्त करने के बाद मनाली माल रोड में पत्रकारों से बातचीत में आंचल ठाकुर ने कहा कि अब उनका अगला लक्ष्य शीतकालीन खेलों में भारत को मैडल दिलाना है। फिश द्वारा आयोजित होने वाली अगली प्रतियोगिता में भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाकर शीतकालीन ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करूंगी। उन्होंने कहा कि तुर्की में आयोजित प्रतियोगिता उनके लिए आज तक की सबसे कठिन प्रतियोगिता थी। प्रतियोगिता में विभिन्न देशों के प्रतिभागी अपनी प्रतिभा के जौहर दिखा रहे थे।
PunjabKesari
गोल्ड मिलने की बात सुन खुश हो गए पापा
आंचल ने कहा कि वह मैडल मिलने से अनजान थीं लेकिन जब उन्हें तीसरा स्थान मिलने की खबर मिली तो वह खुद हैरान रह गईं। सबसे पहले यह खुशी के पल पापा रोशन ठाकुर संग साझा किए। पापा को पलभर के लिए विश्वास नहीं हुआ लेकिन जब मंैने उन्हें गोल्ड मिलने की बात कही तो वे बहुत खुश हुए। उन्होंने कहा कि घाटी के युवा स्कीइंग में बहुत रूचि रखते हैं। सोलंग की ढलानों को और स्कीइंग के आधारभूत ढांचे को विकसित किया जाता है तो घाटी के युवा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश का नाम रोशन कर सकते हैं। 

पी.एम. मोदी की बधाई से बढ़ा आत्मविश्वास 
उन्होंने कहा कि जब उन्हें स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर के माध्यम से बधाई दी तो उनका आत्मविश्वास बढ़ा। आंचल ने कहा कि साऊथ कोरिया में 9 फरवरी, 2018 से आयोजित होने जा रही शीतकालीन खेलों में भाग लेने के लिए वह बेहतर प्रशिक्षकों से प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं। उन्होंने अपनी इस कामयाबी का श्रेय माता-पिता, प्रशिक्षकों, सीनियर खिलाडिय़ों और पर्वतारोहण संस्थान को दिया।

साहसिक खेलों को बढावा दे रहा पर्वतारोहण संस्थान मनाली
आंचल को बधाई देने व मनाली पहुंचने पर स्वागत करने माल रोड पहुंचने अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान के निदेशक कैप्टन रणधीर सलूरिया ने कहा कि संस्थान साहसिक खेलों को बढ़ावा देने को हरसंभव प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि संस्थान देश भर के लाखों युवाओं को स्कीइंग, पैराग्लाइडिंग, रिवर राफ्टिंग, ट्रैकिंग, रिवर क्रोसिंग सहित अनेकों साहसिक गतिविधियों के प्रशिक्षण दे रहा है। कैप्टन सलूरिया ने कहा कि प्रदेश सरकार के सहयोग से संस्थान निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसर है।


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन