अब रोहतांग दर्रे को बहाल नहीं करेगा BRO, जानिए क्या है वजह

  • अब रोहतांग दर्रे को बहाल नहीं करेगा BRO, जानिए क्या है वजह
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, December 14, 2017-5:42 PM

मनाली: लाहौल को कुल्लू से जोडऩे वाला रोहतांग दर्रा अब वाहनों के लिए बहाल नहीं होगा। बी.आर.ओ. 70 आर.सी.सी. इसे अब बहाल नहीं करेगी। 4 दिनों से लगातार हिमपात के चलते रोहतांग दर्रे में 5 फुट तक बर्फ के ढेर लग गए हैं। बी.आर.ओ. ने  हालांकि घाटी की सड़कों को सर्दियों में भी बहाल रखने का निर्णय लिया है, जिसके चलते बी.आर.ओ. ने सतींगरी से बर्फ हटाने की मुहिम भी शुरू कर दी है। बी.आर.ओ. ने मंगलवार को बर्फबारी थमते ही जगह-जगह से बर्फ हटाने का काम शुरू किया। 

तांदी-संसारी मार्ग की तरफ बढ़ाए कदम
रोहतांग सुरंग के नोर्थ पोर्टल गुफा होटल तक बी.आर.ओ. सड़क को बहाल करेगा। पटन घाटी के मुख्य मार्ग तांदी-संसारी की बहाली को भी बी.आर.ओ. ने अपने कदम बढ़ा दिए हैं। थिरोट से उदयपुर और तांदी से थिरोट तक 2 टीमें सड़क बहाली में जुट गई है। हालांकि पटन घाटी में बर्फबारी कम हुई है लेकिन चंद्रा घाटी में 2 से साढ़े 3 फुट तक बर्फबारी हुई है। बी.आर.ओ. द्वारा बर्फ हटा लेने के बाद लाहौल घाटी में वाहनों की आवाजाही शुरू हो जाएगी लेकिन बी.आर.ओ. रोहतांग दर्रे पर अब मार्च महीने में ही बहाली का काम शुरू करेगा। 

मौसम खुलते ही सतींगरी-सिसु मार्ग पर शुरू होगा काम
सीमा सड़क संगठन के कर्नल ए.के. अवस्थी ने बताया कि इससे पहले रोहतांग सुरंग के नोर्थ पोर्टल में काम को सुचारू रखने के लिए बी.आर.ओ. 31 दिसम्बर तक रोहतांग दर्रे को बहाल करता रहा है लेकिन सुरंग के दोनों छोर जुड़ जाने से अब बी.आर.ओ. रोहतांग दर्रे की बहाली का कार्य मार्च महीने से ही शुरू करेगा। लाहौल के लोगों की समस्या को देखते हुए घाटी के मुख्य मार्ग केलांग-सिसु और तांदी-संसार के बीच सड़क को बहाल रखने का प्रयास सर्दियों में भी जारी रहेगा। मौसम खुलते ही बी.आर.ओ. 70 आर.सी.सी. ने सतींगरी-सिसु मार्ग की बहाल का काम शुरू कर दिया है जबकि 94 आर.सी.सी. ने उदयपुर और तांदी के बीच मार्ग बहाली का काम शुरू कर दिया है। 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन