कोटखाई रेप एंड मर्डर केस में सड़कों पर उतरी SFI-ABVP, कॉलेजों में किया कक्षाओं का बहिष्कार

  • कोटखाई रेप एंड मर्डर केस में सड़कों पर उतरी SFI-ABVP, कॉलेजों में किया कक्षाओं का बहिष्कार
You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, July 15, 2017-4:57 PM

शिमला: कोटखाई रेप एंड मर्डर मामले को लेकर आक्रोश थमता नजर नहीं आ रहा है। राजधानी में छात्र संगठन एबीवीपी और एसएफआई ने कॉलेजों में कक्षाओं का बहिष्कार कर छात्रा को इंसाफ दिलाने की गुहार लगाई। एबीवीपी ने कॉलेज परिसर से रैली निकाली और शिमला पुलिस पर इस मामले में लीपापोती का आरोप लगाया। एसएफआई कार्यकर्ताओं ने कॉलेजों में कक्षाओं का बहिष्कार किया और डीसी कार्यालय के बाहर इकट्ठे होकर प्रशासन और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद रिज तक रैली निकाली। सैकड़ों छात्र रिज पर छात्रा को इंसाफ दिलाने के लिए हाथों मेंतख्तियां लेकर जुटे हुए हैं।  
PunjabKesari

असली आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने की मांग
एसएफआई कार्यकर्ताओं ने छात्रा मामले में आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने की मांग की। इन कार्यकर्ताओं ने कहा कि पुलिस ने दबाव में काम करते हुए असली आरोपियों को बचाया और बेगुनाहों को फंसाया है। उन्होंने सीबीआई से इस मामले की जल्द से जल्द जांच शुरू करने की मांग की। 
PunjabKesari

डीसी ऑफिस से माल रोड होते हुए रिज तक प्रदर्शन
एसएफआई कार्यकर्ताओं ने शिमला नागरिक सभा के साथ डीसी ऑफिस से माल रोड होते हुए रिज तक प्रदर्शन किया। इस दौरान भारी संख्या में लोग शामिल थे। उधर, संजौली कॉलेज तक एबीवीपी कार्यकर्ता संजौली तक नारेबाजी की। उन्होंने आरोप लगाया कि इस मामले में प्रभावशाली परिवारों के लोगों को बचाया गया है और बेगुनाहों को फंसाया गया है। 


जोगिंद्रनगर में भी रोष
इन मामले में जोगिंद्रनगर के राजीव गांधी कॉलेज के एसएफआई कार्यकर्ताओं ने बैनर हाथों में लेकर ‘बाहर निकलो मकानों से, जंग लड़ो बेईमानों से‘ सहित नारे लगाकर अपना रोष प्रकट किया है।


सोलन में भी दिखा आक्रोश
इस मामले के बाद हर और इंसाफ की मांग उठ रही है। इसी के तहत सोलन डिग्री कॉलेज में एसएफआई इकाई द्वारा प्रर्दशन किया गया। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !