PICS : बर्फबारी बनी आफत, 5 दिनों से अधेंरे में डूबे 250 गांव

You Are HereChamba
Tuesday, January 10, 2017-8:49 PM

चम्बा: जिला चम्बा में पिछले 5 दिन से रुक-रुक कर बारिश व बर्फबारी हो रही है। मंगलवार को भी जिला के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में जमकर बर्फबारी हुई तो निचले क्षेत्रों में बारिश जारी रही। सोमवार को मौसम ने लोगों को अपने रुख में बदलाव करते हुए जो राहत पहुंचाई थी उसका मंगलवार को कोई असर नहीं दिखा बल्कि अन्य दिनों के मुकाबले मंगलवार को समूचे जिला में अधिक ठंड दर्ज की गई। सोमवार रात को जहां तापमान का पारा गिर कर शून्य तक पहुंच गया था तो मंगलवार दोपहर को सबसे अधिक तापमान 6 डिग्री दर्ज किया गया। 

कई संपर्क मार्ग पड़े बंद 
जिला चम्बा के अभी भी कई संपर्क मार्ग वाहनों की आवाजाही के लिए बंद पड़े हैं तो बिजली व्यवस्था का यह हाल है कि जिला चम्बा की 283 पंचायतों में से 35 पंचायतों के करीब 250 गांव पिछले 5 दिनों से अंधेरे में डूबे हुए हैं। जिला में सबसे अधिक प्रभावित उपमंडलों की सूची में चुराह व भरमौर उपमंडल का नाम शामिल है। चुराह उपमंडल में बिजली बोर्ड के 70 के करीब तो भरमौर उपमंडल में 40 के करीब बिजली के ट्रांसफार्मर बंद पड़े हुए हैं। इन बिजली के ट्रांसफार्मरों के बंद होने का कारण कुछ का खराब होना तो कुछ की बिजली लाइनों का क्षतिग्रस्त होना है। 

पालकी में अस्पताल पहुंचाई गर्भवती महिला
बर्फबारी होने के चलते जिला के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में अभी भी जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित है। लोग रोगियों को उपचार के लिए पालकियों के माध्यम से निकटतम प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र या फिर सिविल अस्पताल तक पहुंचा रहे हैं। मंगलवार को ऐसा ही मामला सलूणी उपमंडल के दायरे में आने वाले गांव भडेला में देखने को मिला। गांव की एक गर्भवती महिला को प्रसव के लिए अस्पताल तक पहुंचाने के लिए लोगों को बर्फ में उसे पालकी में ले जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। 

सरकारी वैबसाइटें बंद 
शिमला में भारी बर्फबारी के चलते हुए ब्लैकआऊट का पूरे प्रदेश में असर देखने को मिला है। शिमला से ऑनलाइन जुड़े बैंकों का कार्य सुचारू रूप से नहीं चल रहा है तो कई सरकारी वैबसाइटें बंद पड़ी हैं। जानकारी के अनुसार इन दिनों नायब तहसीलदार, तहसीलदार व खंड विकास अधिकारियों के पदों के लिए परीक्षा फार्म भरने की प्रक्रिया चली हुई है लेकिन लोग ऑनलाइन परीक्षा फार्मों को भरने में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं। 

क्या कहतें हैं डी.सी.
डी.सी. चम्बा सुदेश मोख्टा ने कहा कि सभी विभागों को ये निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि वे अपनी प्रभावित हुई सेवाओं को पुन: बहाल करने के लिए युद्धस्तर पर अभियान छेड़ें। अगर मौसम 2-3 दिनों तक साफ रहता है तो जिला के सभी बंद पड़े संपर्क मार्गों को खोलने के साथ अंधेरे में डूबे हुए गांवों को फिर से रोशन कर दिया जाएगा।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You