माइनस 12 डिग्री तापमान में 8 घंटे तक फंसे रहे 30 वाहन, रात भर चला रैस्क्यू

  • माइनस 12 डिग्री तापमान में 8 घंटे तक फंसे रहे 30 वाहन, रात भर चला रैस्क्यू
You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, November 25, 2017-1:02 AM

मनाली: लाहौल के कोकसर से निकलकर करीब 30 वाहन रोहतांग से सटे राहनीनाला में अटक गए। इन वाहनों में करीब 110 लोग सवार थे, जिनमें कुछ बच्चे और बुजुर्ग भी शामिल थे। मढ़ी की रैस्क्यू टीम ने बी.आर.ओ. की मदद से रात को करीब 3 बजे फंसे लोगों को सुरक्षित निकालकर मढ़ी पहुंचाया। ये लोग राहनीनाला में माइनस 12 डिग्री तापमान में लगभग 8 घंटे तक फंसे रहे। भूख और प्यास से कई लोगों की तबीयत भी खराब हो गई। बाहर तेज बर्फीली हवा चलने के कारण यात्रियों का वाहन से बाहर निकलना मुश्किल हो गया।

गोशाल पंचायत के उपप्रधान ने दी मीडिया को जानकारी
राहनीनाला में फंसे गोशाल पंचायत के उपप्रधान अजीत सिंह ने मीडिया को आधी रात को इस घटना की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उनके साथ करीब 32 बड़े व छोटे वाहन रात 3 बजे तक फंसे रहे। उन्होंने बताया कि बर्फ  में एक ट्रक स्किड होकर सड़क के बीच में अटक गया, जिस कारण सड़क अवरुद्ध हो गई। इससे पहले ये लोग कोकसर के समीप ग्रांफू में करीब 5 घंटे तक फंसे रहे। हालांकि रात 10 बजे तक कोकसर रैस्क्यू टीम ने ग्रांफू  में फंसे सभी वाहनों को सुरक्षित निकाल दिया था। रैस्क्यू टीम मढ़ी को जैसे ही वाहनों के फंसने की सूचना मिली तो वे दल-बल सहित मौके पर पहुंचे। रैस्क्यू टीम ने एक-एक कर लोगों को रैस्क्यू कर मढ़ी पहुंचाया। बी.आर.ओ. की मशीनरी भी रात को मदद करने पहुंची।

माइनस तापमान में बी.आर.ओ. ने खोला रोड
माइनस तापमान के बीच बी.आर.ओ. ने ट्रक हटाने व रोड खोलने का प्रयास जारी रखा। वाहन चालक सुरेश, अमर व कर्मा ने बताया कि चुम्बक मोड़ से ब्यास नाला और रोहतांग से राहनीनाला के बीच सड़क पर बर्फ  जम जाने से सफर बहुत जोखिम भरा हो गया है। उन्होंने बताया कि मढ़ी से नीचे चुम्बक मोड़ के समीप करीब डेढ़ दर्जन बड़े वाहन पूरी रात फंसे रहे, जिन्हें अभी तक नहीं निकला गया। लाहौल-स्पीति डी.सी. देवा सिंह नेगी ने बताया कि राहनीनाला में ट्रक के फंस जाने से 30 गाडिय़ां फंस गई थीं, जिन्हें रात को रैस्क्यू टीम ने बी.आर.ओ. की मदद से देर रात निकाल लिया। बी.आर.ओ. कमांडर कर्नल अरविंद अवस्थी ने बताया कि खराब प्वाइंट पर डोजर तैनात कर दिया है। ट्रैफिक को सुचारू रखने के प्रयास जारी हंै। उन्होंने बताया कि बी.आर.ओ. लाहौल और कुल्लू के लोगों को उचित सुविधा मुहैया करवाने को प्रयासरत है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!