सावधान! आज 11 बजे आएगा भूकंप

  • सावधान! आज 11 बजे आएगा भूकंप
You Are HereMandi
Thursday, November 24, 2016-9:55 AM

मंडी: सावधान! आज 11 बजे प्रदेश के 7 जिलों में एक साथ भूकंप आएगा। जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल 8 मैग्रीट्यूड रहेगी और ऐसा माना जाएगा कि पूरे इलाके में जगह-जगह तबाही मचेगी और राहत एवं बचाव कार्य के लिए तमाम एजैंसियां सक्रिय रहेंगी। घबराएं मत आज 7 जिलों में एक साथ राज्य आपदा प्राधिकरण एवं संयुक्त राष्ट्र विकास परियोजना दिल्ली के सौजन्य से मैगा मॉक ड्रिल की जा रही है जिसमें सुबह करीब 11 बजे अचानक सायरन बज उठेगा और जिला प्रशासन और आपदा प्रबंधन टीमें तमाम उपकरणों व तैयारियों के साथ मौके के लिए भागेंगी।


सूचना मिलते ही एन.डी.आर.एफ. पड्डल पहुंचेगी। इस पूरे अभ्यास की किसी को पूर्व सूचना नहीं होगी और पूरी तैयारी के साथ सभी अधिकारियों को सायरन बजते ही एकमात्र सुरक्षित स्थल पड्डल मैदान की ओर कूच करना होगा। इस बारे में अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विवेक चंदेल ने कहा कि भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदा के दौरान राहत कार्यों को सुचारू रूप से चलाने के लिए मंडी मुख्यालय में मॉक ड्रिल का आयोजन 24 नवम्बर को किया जा रहा है। आपदा के दौरान बेहतर तालमेल के साथ कार्य करते हुए नुक्सान को कम से कम किया जा सके और स्थिति को सामान्य बनाया जा सके इसके लिए यह मैगा मॉकड्रिल को अमल में लाया जा रहा है। मॉक ड्रिल के लिए विभिन्न टीमों का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि मंडी जिला को भूकंप की दृष्टि से जोन 4 में रखा गया है।


पड्डल में बनेगा आपातकालीन सैंटर 
विवेक चंदेल ने कहा कि सायरन बजते ही तमाम टीमें सुरक्षित खुले स्थान पड्डल की ओर सुबह 11 बजे कूच करेंगी, जहां पूरे ऑपरेशन के कमांडर बचाव एवं राहत कार्य में जुटने वाली फोर्स को ब्रीफ करेंगे। इसके लिए एक विशेष टास्क फोर्स बनाई गई है और करीब 100 वालंटियर विभिन्न किरदार अदा करेंगे जिन्हें इस बारे प्रशिक्षण दिया जा चुका है। पड्डल में ही राहत कैंप बनाया जाएगा जहां प्रभावितों को लाने के बाद और आप्रेशन में जुटे लोगों को पैकेट फूड मुहैया करवाया जाएगा। पूरी मॉक ड्रिल में करीब 300 जवान और अधिकारी सेवाएं देंगे जिसमें पुलिस, स्वास्थ्य, लोक निर्माण विभाग, बिजली, आई.पी.एच., एन.डी.आर.एफ. और होमगार्ड के जवान सेवाएं देंगे। इसके अलावा स्कूलों में भी मॉक ड्रिल होगी। 


यहां होगी तबाही!
इंदिरा मार्कीट, पुलिस लाइन, डिग्री कालेज, आयुर्वैदिक अस्पताल व होमगार्ड भवन में तबाही मचेगी। सायरन बजते ही यहां के लिए टीमें रवाना होंगी और पूरा दिन राहत एवं बचाव कार्य चलेगा। इस दौरान यहां लोगों को बचाने का काम किया जाएगा जिसमें पहले से ही कुछ घायल और डम्मी शव रखे जा रहे हैं। मलबा हटाने के लिए जे.सी.बी. मौके पर रहेगी और कटर व अन्य सामान और बिजली की पूरी व्यवस्था रहेगी।


प्रशासन की अपील
जिला प्रशासन की ओर से अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी विवेक चंदेल ने कहा कि भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदा के दौरान राहत कार्यों को सुचारू रूप से चलाने के लिए मंडी जिला मुख्यालय में मॉकड्रिल का आयोजन 24 नवम्बर को किया जा रहा है। लिहाजा लोग सायरन बजते ही अफरा-तफरी न मचाएं क्योंकि आपदा के दौरान बेहतर तालमेल के साथ कार्य करते हुए नुक्सान को कम से कम और स्थिति को सामान्य बनाने के लिए ऐसी रिहर्सल की जा रही है।  

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You