उड़ी आतंकी हमला: घरवालों को नहीं पता कहां, किस हाल में है उनका बेटा जसवंत (PICS)

You Are HereNational
Tuesday, September 20, 2016-3:19 PM

मंडी (पुरषोतम पंकज): उड़ी सैन्य मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले में लडभड़ोल तहसील के बोहल गांव के हवलदार जसवंत सिंह भी घायल हो गए हैं। उनके घर में रिश्तेदारों व दूसरे लोगों का कुशलक्षेम जानने का सोमवार को तांता लगा रहा। हालांकि सेना और स्थानीय प्रशासन की तरफ से जसवंत सिंह के परिजनों को उनके घायल होने की अधिकारिक सूचना नहीं दी गई है जिससे जसवंत के परिवार व रिश्तेदारों में सरकार के प्रति रोष है लेकिन उसके सकुशल होने से सबके चहरे पर खुशी साफ झलक रही है। 


जसवंत के भाई महेंद्र सिंह ने कहा कि उन्हें जसवंत सिंह के घायल होने की सूचना अपने सूत्रों से मिली है। उन्होंने कहा कि जसवंत मई महीने में 15 दिन की छुट्टी पर आए थे जब उनकी बड़ी बहन की मृत्यु हुई थी। जसवंत की पत्नी शाबनी देवी ने कहा कि कुछ दिन पहले उनका फोन आया था तो उन्होंने कहा कि 12 अक्तूबर तक उनकी यूनिट पठानकोट आ जाएगी और उसके उपरांत उनका घर छुट्टी आने का कार्यक्रम था। जसवंत की माता शुती देवी व पिता जय सिंह कल सायं से ही टैलीविजन से नजरें नहीं हटा रहे हैं।


उनके रिश्तेदार व परिवार भगवान से जसवंत सिंह की शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए कामना कर रहे हैं। जसवंत सिंह 18 वर्ष पहले सेना के 10 डोगरा में एम.टी. में भर्ती हुए हैं। इस समय जसवंत सिंह सेना में हवलदार के पद पर कार्यरत हैं। उनकी 2 लड़कियां अंशिता (12) व तनवी (10) हैं। माता शुती देवी व पिता जय सिंह के साथ जसवंत का परिवार रहता है। पंचायत के मतेहड़ के उपप्रधान राजेश कुमार व अन्य गांववासी भी जसवंत के घर पर मौजूद थे। उन्होंने जसवंत की शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!