हिमाचल में विकास और विनाश की लड़ाई: सुरजेवाला

You Are HereLatest News
Thursday, November 2, 2017-8:47 PM

शिमला(अरुण पटियाल) हिमाचल में नौ नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव के चलते चुनाव प्रचार जोरों पर है। कांग्रेस पार्टी का प्रचार करने हरियाणा से आए रणदीप सिंह सुरजेवाला का पंजाब केसरी के संवाददाता ने साक्षात्कार किया और चुनाव प्रचार के  मुद्दों पर बातचीत की। सुरेजवाला ने संवाददता को बताया कि कांग्रेस प्रगति, विकास और सुशासन के मुद्दों पर चुनाव लड़ रही है। कहा कि वीरभद्र सरकार ने पांच वर्ष में प्रदेश में विकास और प्रगति पर काम किया है। उन्होंने कहा जहां एक तरफ विकास है वहीं दूसरी तरफ विनाश की ताकतें हैं।

उन्होंने बताया कि कांग्रेस का एजेंडा हिमाचल को विकास में आगे ले जाने का हैं। ताकतों का एजेंडा विनाश का है। उन्होंने मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए आगे कहा, 41 महीने में मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद देश और पहाड़ी राज्यों को निराश की ओर धकेला है। यही विनाश हिमाचल में गुस्से के रूप में परिवर्तित हो रहा है। मोदी सरकार ने  वर्ष 2015 में हिमाचल का विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया। इससे जो 3000 सालाना आता था, वो खत्म हो गया। मोदी कहा ने कहा था, वर्ष 2014 में सेब उत्पादक संरक्षण के लिए इंपोर्ट डयूटी लगाएंगे लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद भूल गए। संवाददाता ने सुरेजवाला से पूछा,  केंद्र से जो नेता आ रहे हैं मोदी सरकार की नाकामियां गिना रहे हैं तो हिमाचल में क्या चुनावी मुद्दा हिमाचल की नाकामियां हैं। इस पर सुरजेवाला ने कहा हिमाचल में विकास और केंद्र की नाकामियां दोनों मुद्दा हैं।

ये है हमारा एजेंडा
सुरेजवाला ने कहा कल हमने चुनावी घोषणा पत्र जारी किया इसमें नया रास्ता, नया विश्वास नई दृष्टि, किसानों का एक लाख तक का कर्ज कैसे माफ होगा, प्रदेश में दो से तीन लाख रोजगारों का सृजन होगा व छात्रों को लैपटाप और 16 जीबी से अधिक डेटा देना। महिलाओं की सुरक्षा को लेकर महिला पुलिस की भर्ती से लेकर उद्योगों को विकास एजेंडा है। उन्होंने बताया कि किस प्रकार हिमाचल में कर्मचारियों को नियमित किया जाएगा। ये हमारा पाजिटिव एजेंडा है।

धूमल खुद बेल पर
सुरेजवाला ने आगे बताया, ये सच्चाई है कि बीजेपी नगर पालिका के चुनाव के लिए चेहरे के आधार पर बोट मांगता है। मोदी को हिमाचल की जनता ने नकार दिया है। मोदी भ्रष्टाचार की बात करने हैं जबकि धूमल खुद बेल पर चल रहे हैं।

वीरभद्र को हेलीकाप्टर नहीं मिला
संवाददाता के हेलिकॉप्टर न मिल पाने का सवाल पूछने पर सुरेजवाला ने जवाब दिया। इससे उनकी सादगी सरलता प्रदर्शित होती है। 82 वर्ष की उम्र में भी वीरभद्र प्रदेश के कोने कोने में जाते हैं और वे हर जगह कार में ही लोगों में प्रचार के लिए जा रहे हैं। सुरेजवाला ने कहा, एक तरफ धन बल व बाहू है तो दूसरी ओर जन बल। यह चुनाव धन बल बाहू बल और जन बल के बीच है। विनाश के दानव पर उन्होने कहा, यह हिमाचल की प्रगति में रोड़ा है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!