नालागढ़ में गूंजा, 'गणपति बप्पा मोरया'

You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, September 6, 2016-4:10 PM

सोलन : हिमाचल प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्र बी.बी.एन. में गणपति बप्पा मौरेया के स्वर गूंजे और लोगों ने अपने घरों में गणपति की मूर्तियां स्थापित की। प्रवासियों की बहुतायत से क्षेत्र में प्रवासी लोगों के पर्वों की भी झलक देखने को मिलती है, वहीं स्थानीय लोग भी इन पर्वों को मनाने में खूब दिलचस्पी दिखाते हैं।

जानकारी के मुताबिक सोमवार को बड़े महानगरों की तर्ज पर गणेश चतुर्थी के आरंभ के साथ नालागढ़ शहर में गणपति की भव्य शोभायात्रा निकाली गई, जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। बता दें कि गणेश चतुर्थी के आगाज के साथ क्षेत्र में गणपति के स्वरों से शहर गुंजायमान हो उठे।

स्थानीय लोगों ने भी अपने घरों में गणेश की मूर्तियां स्थापित की और भगवान गणेश की स्तुति की। 10 दिनों तक चलने वाले इस पर्व के बाद मूर्ति विसर्जन किया जाएगा। बता दें कि प्रदेश को वर्ष 2003 में मिले पैकेज के बाद यहां स्थापित उद्योगों में प्रवासी कामगारों ने भी रोजगार के लिए दस्तक दी है। प्रवासियों के इस क्षेत्र में आने से उनकी संस्कृति व पर्वों की यहां झलक मिलती है। इतना ही नहीं स्थानीय लोग भी इन पर्वों को बड़े चाव से मनाते हैं और अपने घरों में मूर्तियां स्थापित करते हैं।

इस पर्व में गणपति की पूजा-अर्चना की जाती है और पूर्णिमा के दिन गणपति का विसर्जन किया जाता है। नालागढ़ शहर में भी प्रवासियों सहित स्थानीय लोगों ने जमकर गणेश की मूर्तियों की खरीददारी कर उन्हें अपने घरों में स्थापित किया है। शहर के निवासी राजेश रामा ने कहा कि उन्होंने अपने घर में करीब पांच फुट की गणेश की मूर्ति पूजा-अर्चना के बाद स्थापित की है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You