Watch Video: कभी नेहरू का अंगरक्षक था यह बुजुर्ग, आज इस बात का है दर्द

You Are HereHamirpur
Tuesday, November 15, 2016-12:27 PM

हमीरपुर (अरविंद्र सिंह): जहां आज देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की जयंती मना रहा है वहीं उनके अंगरक्षक नानक चंद को नेहरू की अनदेखी किए जाने पर दर्द हो रहा है। हमीरपुर जिला के बजूरी गांव के रहने वाले 87 वर्षीय नानक चंद प्रधानमंत्री नेहरू के समय 1952 से 1955 तक त्रिमूर्ति भवन में अंगरक्षक रह चुके हैं और आज नेहरू की जयंती के अवसर पर नानक चंद की आंखें भी उन्हें याद करके भर आती है। पंडित नेहरू को भूलने की बात पर अब नानक चंद के द्वारा इसकी शिकायत जल्द ही पी.एम. मोदी से करने का मन बनाया है क्योंकि नानक चंद मानते है कि पंडित नेहरू ने जो देश के लिए किया है वह अमूल्य है।


नानक चंद का कहना है कि आज के समय में पंडित नेहरू को लेकर तरह-तरह की टिप्पणियां सुनने को मिलती है लेकिन यह सब गलत है और वास्तव में ऐसा कुछ नहीं है। उन्होंने बताया कि जल्द ही पी.एम. मोदी से मिलकर पंडित नेहरू के बारे में हो रही चर्चाओं पर विराम लगाने के लिए कोशिश की जाएगी। क्योंकि पंडित नेहरू को भूलना धर्म के खिलाफ है। 


गौरतलब है कि हमीरपुर के बजूरी गांव के निवासी नानक चंद स्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के साथ अंगरक्षक के तौर पर सेवाएं दे चुके है और पंडित नेहरू के जीवन से स्वंय भी नानक चंद काफी प्रभावित हुए थे। लेकिन आज पंडित नेहरू के लिए अपशब्द सुनकर उन्हें बहुत दुख पहुंचता है। जिसके चलते जल्द ही पी.एम. मोदी से भी मुलाकात कर बातों पर विराम लगाना चाहते है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You