Watch Video: हिमाचल का वीर सपूत पंचतत्व में विलीन, 7 साल के बेटे ने दी मुखाग्नि, हर आंख हुई नम

You Are HereHimachal Pradesh
Wednesday, November 15, 2017-2:08 PM

मंडी (नीरज): मणिपुर में नक्सली हमले में शहीद हुए हिमाचल के मंडी जिला के पंडोह गांव निवासी इंद्र सिंह का बुधवार को पूरे सैनिक और राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। यहां पर शहीद के सात वर्षीय बेटे उदय सिंह ने अपने पिता की चिता को मुखाग्नि दी।
PunjabKesari

बताया जाता है कि तिरंगे में लिपटा शहीद का पार्थिव शरीर बुधवार सुबह करीब 9 बजे उनके घर पहुंचा। उनके शरीर को घर के आंगन में अंतिम दर्शनों के लिए रखा गया, लेकिन क्षत-विक्षत शव होने के कारण परिजनों को खोलकर नहीं दिखाया गया। इस दौरान परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। सभी लोगों की आंखें नम हुई पड़ी थी। घर पर अंतिम दर्शन करवाने के बाद शहीद की शवयात्रा शुरू हुई, जिसमें सांसद रामस्वरूप शर्मा, सदर के विधायक अनिल शर्मा, नाचन के विधायक विनोद कुमार और जिला परिषद अध्यक्ष चंपा ठाकुर सहित अन्य नेता और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। श्मशानघाट पर शव को पहले सलामी दी गई और मातमी धुन बजाकर शोक प्रकट किया गया। 
PunjabKesari

नक्सलियों की कायराना हरकत से लोगों में आक्रोश
लोगों में नक्सलियों द्वारा की गई कायराना हरकत को लेकर भारी आक्रोश है। वहीं स्थानीय पंचायत ने शासन और प्रशासन से शहीद इंद्र सिंह के नाम पर इलाके में स्मारक बनाने की मांग उठाई। उधर, सांसद रामस्वरूप शर्मा और विधायक अनिल शर्मा ने शहीद की शहादत पर अपनी संवेदनाएं प्रकट की और सरकार की तरफ से पीड़ित परिवार को हरसंभव सहायता का भरोसा दिलाया।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!