यहां नशे की गिरफ्त में कराह रहा बचपन, खतरे में देश का भविष्य

  • यहां नशे की गिरफ्त में कराह रहा बचपन, खतरे में देश का भविष्य
You Are HereLatest News
Sunday, November 19, 2017-11:45 AM

बिलासपुर : घुमारवीं शहर व उसके आसपास के क्षेत्रों में नशे के सौदागरों के हौसले दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं तथा पुलिस इन सौदागरों के आगे लाचार नजर आ रही है। नशा शहर व उसके आसपास के क्षेत्रों में आसानी से उपलब्ध हो रहा है और पुलिस मूकदर्शक बनकर रह गई है। नशे का कारोबार करने वाले ये लोग आए दिन अपने चंगुल में स्कूल व कालेज के बच्चों को फंसाकर अपने चंद मुनाफे के खातिर दूसरों के घरों के चिरागों को बुझाने को आतुर हैं। नशा कोई भी हो, वह आसानी से इन नौजवानों को उपलब्ध हो रहा है।

युवक नशे के कारण मौत के आगोश में
कुछ वर्ष पहले घुमारवीं शहर के एक व्यवसायी के बेटे की नशे की अधिक मात्रा लेने के कारण मौत हो गई थी तो दूसरी तरफ घुमारवीं उपमंडल के कुठेड़ा कस्बे में भी एक युवक नशे के कारण मौत के आगोश में समा गया था। इन 2 मौतों से घर के इकलौते चिराग हमेशा के लिए बुझ गए थे। प्रशासन व पुलिस ने कुछ समय के लिए इन मौतों से सबक लिया और कई मामले नशे के कारोबारियों के विरुद्ध बना कर उन्हें सलाखों के पीछे भी पहुंचाया था। समय बीतता गया और हालात अब बद से बदतर हो रहे हैं तथा आज फिर ये सब नशीली वस्तुएं आसानी से शहर व उसके आसपास के क्षेत्र में मिल रही हैं। नशीली वस्तुओं में चरस, अफीम, गांजा, नशीले कैप्सूल व चिट्टा आसानी से मिल रहा है तथा धंधे में संलिप्त लोगों के हौसले बुलंद हैं।

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!