Subscribe Now!

विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को क्यों मिली हार, जानिए अजय महाजन की जुबानी (Video)

You Are HereHimachal Pradesh
Sunday, February 11, 2018-10:50 AM

नुरपूर: हिमाचल कांग्रेस के महासचिव व नूरपुर से पूर्व विधायक अजय महाजन ने कहा है कि परंपरागत वोट बैंट टूटने की वजह से उन्हें विस चुनाव में हार का मुंह देखना पड़ा है। पंजाब केसरी स्टूडियो आए महाजन ने कहा कि पिछले चुनाव में उन्हें 26 हजार वोट मिले थे जबकि इस चुनाव में साढ़े 28 हजार वोट मिले लेकिन फिर भी हार हुई। उन्होंने कहा है कि नूरपुर के लोगों का प्यार हमेशा उन्हें मिलता रहा है जिसका वो शुक्रिया अदा करते हैं। महाजन ने कहा कि परंपरागत मुस्लिम वोट बैंक खिसकने से उन्हें चुनाव में हार मिली। कांगड़ा में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि हर 5 साल में बदलाव हिमाचल का ट्रैंड बन गया है। लोगों की उम्मीदें काफी बढ़ गई हैं व उस पर खरा उतरना बहुत मुश्किल हो गया है। मेरे चुनाव क्षेत्र नूरपुर में ही मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने बहुत काम करवाए। नूरपुर में 38 स्कूल अपग्रेड हुए, एन.डी.आर.एफ. की यूनिट आई, मिनी सचिवालय शुरू हुआ, बस स्टैंड बना व 148 करोड़ की सड़कें बनीं, लेकिन कहीं न कहीं कमी रही होगी, जिसकी वजह से हार हुई है। 


जनहित के कामों में देंगे साथ 
पूर्व विधायक अजय महाजन ने कहा कि नूरपुर में सरकार जो भी जनहित के काम करवाएगी, उसका वो पूरा साथ देंगे लेकिन जनविरोधी कार्यों के खिलाफ आवाज बुलंद की जाएगी। उन्होंने कहा कि नूरपुर में मदर एंड चाइल्ड केयर अस्पताल के लिए 10 करोड़ रुपए मंजूर हुए हैं। उस पर जल्द काम शुरू हो। इसके अलावा नूरपुर कालेज का काम भी आगे बढ़ना चाहिए। पिछली सरकार ने आधुनिक फायर स्टेशन और एस.सी. रैस्ट हाऊस के लिए 3-3 करोड़ स्वीकृत किए थे। उन पर जल्द से जल्द काम हो। मौजूदा विधायक सिर्फ वाहवाही लूटने के बजाय इन योजनाओं को धरातल पर उतारें। 


नूरपुर को जिला बनवाएं विधायक
अजय महाजन ने कहा कि मौजूदा विधायक ने पिछले 10 साल से नूरपुर को जिला बनाने के मुद्दे पर राजनीति की है। उन्होंने हमेशा कहा कि वो जिला बनवाएंगे अपने विजन डॉक्यूमैंट में भी उन्होंने ये बात कही है लेकिन सी.एम. जयराम ठाकुर ने पहली ही प्रैस कान्फ्रैंस में नए जिले न बनाने की बात कही है। अब ये मौजूदा विधायक की जिम्मेदारी है कि वो लोगों से किए वायदे को निभाएं। 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन