Watch Video: यह है 'चमत्कारी' पेड़, लोगों को देता है सुरक्षित सफर की गारंटी

You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, December 12, 2017-1:46 PM

करसोग (यशपाल): केलोधार-छतरी सड़क पर कटांडा के समीप देव आस्था का प्रतीक देवदार का एक पेड़ लोगों को सुरक्षित सफर की गारंटी देता है। इतना ही नहीं, इस पेड़ पर गाड़ी की नंबर प्लेट व खराब कलपुर्जों को चढ़ाने से देव आशीर्वाद भी मिलता है। जानकारों के मुताबिक इस 'चमत्कारी' देवदार के पेड़ पर 'देव वनशीरा' का वास है। अक्सर मंदिरों में देव प्रतिमा के समक्ष चढ़ावे के रूप में फल, फूल, मिठाइयां व अन्य खाद्य सामग्री चढ़ाई जाती है लेकिन यहां गाड़ियों के खराब पुर्जे व नंबर प्लेट चढ़ाने की परंपरा काफी लंबे समय से चली आ रही है। सुरक्षित सफर के अलावा एक और मान्यता भी इस देवदार के पेड़ से जुड़ी हुई है। 
PunjabKesari

देवता वनशीरा के बारे में मान्यता
स्थानीय लोगों की अगाध श्रद्धा के प्रतीक देवता वनशीरा के बारे में मान्यता है कि पहाड़ी क्षेत्रों में बनी तंग व सर्पीली सड़कों पर वाहन चालकों को सुरक्षित सफर की गारंटी इस देव पेड़ के आगे नतमस्तक होने से खुद ही मिल जाती है। ऐसे में यहां से गुजरने वाले वाहन चालक यहां रुकते जरूर हैं। बेशक इस देव पेड़ के समक्ष वाहन चालकों के रुकने का सिलसिला काफी पुराना है लेकिन आज तक इस जगह मंदिर का निर्माण नहीं हो पाया है। लोगों का कहना है कि वनशीरा देवता को वन का राजा माना जाता है। ऐसे में वन का राजा किसी भी मानव निर्मित भवन, मंदिर या फिर चारदीवारी में रहना पसंद नहीं करता। इसलिए देवता वनशीरा का वास खुले आसमान के तले इस देवदार के पेड़ पर ही है। घरेलू जरूरतों को पूरा करने के लिए वनों से मिलने वाली लकड़ी व घास के लिए भी स्थानीय लोग इस देवता की आज्ञा लेना नहीं भूलते। 


खराब स्पेयर पार्ट चढ़ाने से नया नहीं होगा खराब
गाड़ियों के स्पेयर पार्ट्स खराब होने की सूरत में बार-बार गाड़ी को मैकेनिक के पास ले जाने की जरूरत नहीं है। हर मर्तबा खराब होने वाले गाड़ी के स्पेयर पार्ट को यहां चढ़ाने से नया स्पेयर पार्ट दोबारा खराब न होने की गारंटी भी यहां मिलती है। इस सड़क से गुजरने वाले वाहन चालकों को यह पेड़ स्वत: ही अपनी ओर आकर्षित कर लेता है।  यहां वाहन चालक थोड़ी देर रुककर धूप व अगरबत्ती जलाकर देवता का आशीर्वाद लेकर ही अपना आगे का सफर शुरू करते हैं।


जंगली जानवरों से सुरक्षा की भी मिलती है  यहां गारंटी 
वनों में घास व पत्तियां खाने के लिए छोड़े जाने वाले पशुधन की जंगली जानवरों से सुरक्षा की गारंटी भी वनशीरा देवता ही ग्रामीणों को देता है। सुरक्षित सफर की गारंटी देने के अलावा खुली वन संपदा में लोगों की सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाले वनशीरा देवता के डर से लोग इस वन में अवैध कटान करने से भी तौबा करते हैं। बहरहाल, यह देवदार का पेड़ यहां से गुजरने वाले वाहन चालकों के लिए किसी आलौकिक शक्ति से कम नहीं है।


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन