बर्फ में परीक्षा के लिए जा रहे नन्हे छात्रों के साथ घटी यह घटना, जानने के लिए पढ़ें खबर

  • बर्फ में परीक्षा के लिए जा रहे नन्हे छात्रों के साथ घटी यह घटना, जानने के लिए पढ़ें खबर
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, December 14, 2017-1:49 AM

आनी: आनी के दूरदराज ऊंचाई वाले क्षेत्र के सरकारी व निजी स्कूलों में वार्षिक परीक्षाएं जारी हैं। बुधवार को राजकीय प्राथमिक पाठशाला च्वाई और राजकीय प्राथमिक पाठशाला धोगी में शिक्षा ग्रहण कर रहे गांव के पहली से 5वीं कक्षा तक के बच्चे अपनी वाॢषक परीक्षा देने बर्फ  में चलकर अपनी जान जोखिम में डालकर गिरते-फिसलते स्कूल पहुंच पाए हंै। युवा मंडल च्वाई के प्रधान रामकृष्ण ने बताया कि च्वाई बाजार में स्कूली बच्चों व आम जनता को चलने के लिए रास्ता सही नहीं है, जिसमें बर्फ  दलदल बना हुआ है, जिसमें स्कूल जाने वाले छोटे बच्चे तो फिसल रहे हैं, वहीं अन्य आम जनता भी चलने में भारी परेशानी उठा रही है। बाजार की निकासी नालियां आदि न होने से च्वाई बाजार दलदल बन गया है। बुधवार को च्वाई व धोगी के स्कूली बच्चे बर्फ  में गिरते-फिसलते स्कूल पहुंचे हंै। कुछ को मामूली चोटें भी आई हैं। 

हौसला बनाते हुए वार्षिक परीक्षा में बैठे नन्हे छात्र
इतने पर भी गांव के नन्हे स्कूली छात्र, जिनकी आयु 5 से 10 साल है, वे अपना हौसला बनाते हुए वार्षिक परीक्षा में बैठे और पेपर पूरा किया। इससे लगता है कि गांव के होनहार बच्चे किसी से कम नहीं हैं। युवा मंडल ने लोक निर्माण विभाग व स्कूल प्रशासन से मांग की है कि च्वाई बाजार के रास्तों को ठीक किया जाए और वाॢषक परीक्षा की तिथि को आगामी साल के लिए नवम्बर में किया जाए, ताकि गांव के छोटे स्कूली बच्चों की सुरक्षा सही हो सके। इस बारे युवा मंडल ने प्रशासन को भी पत्र भेजा है।


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन