HRTC की 2 बसों में पंजाब से चम्बा पहुंची ये खेप, स्वास्थ्य विभाग ने भरा सैंपल

  • HRTC की 2 बसों में पंजाब से चम्बा पहुंची ये खेप, स्वास्थ्य विभाग ने भरा सैंपल
You Are HereChamba
Thursday, October 12, 2017-6:05 PM

चम्बा: जिला स्वास्थ्य विभाग ने अपने औचक निरीक्षण अभियान को जारी रखते हुए वीरवार को पंजाब से आए 60 किलो पनीर को पकडऩे में सफलता हासिल की है। 2 खेपों के माध्यम से चम्बा में पहुंचे इस पनीर को पकड़ कर जिला स्वास्थ्य विभाग ने अपनी मुस्तैदी को एक बार फिर से प्रमाणित कर दिया है। 20 किलो पनीर के मामले में जहां सैंपल भरा गया तो 40 किलो पनीर के मामले में मालिक के सामने नहीं आने व कोई जानकारी न होने चलने से उसे नष्ट कर दिया गया। 

खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने कंडक्टर के नाम पर भर दिया सैंपल
जानकारी के अनुसार वीरवार को नए बस अड्डे में मनाली-चम्बा वाया पठानकोट होकर पहुंची एच.आर.टी.सी. की बस की जब तलाशी ली गई तो उसमें से एक कुरियर का पैकेट बरामद हुआ, जिसका वजन 20 किलो था। इस बारे में जब जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक आनंद ने पूछताछ की तो कंडक्टर ने इस पनीर की जिम्मेदारी स्वयं ले ली जिसके चलते जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने इस पनीर की गुणवत्ता की जांच के लिए बस परिचालक के नाम पर ही सैंपल भरने की प्रक्रिया को अंजाम दिया। दूसरे मामले में पुलिस ने एक ओर एच.आर.टी.सी. की बस के माध्यम से चम्बा पहुंचे 40 किलो पनीर की खेप पकड़ी। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने जब इस पनीर की खेप के मालिक के बारे में जानकारी हासिल करने का प्रयास किया तो इस बारे में कोई भी जानकारी प्राप्त नहीं हुई, ऐसे में उक्त पनीर को विभाग ने नष्ट कर दिया। 

कुरियर से खाद्य सामग्री आने का पहला मामला
यह पहला मौका है कि जब किसी खाद्य पदार्थ सामग्री को कुरियर के माध्यम से भेजने का मामला सामने आया है। त्यौहारों के इस सीजन में जहां जिला स्वास्थ्य विभाग की सक्रियता काबिले तारीफ है तो वहीं यह मामले इस बात का भी आभास करवाते है कि जिला चम्बा में बाहरी राज्यों से गुणवत्ताहीन मिठाइयों की सप्लाई आने का सिलसिला जारी है। क्योंकि जिला चम्बा में जहां मिठाई की बेहद कम दुकानें मौजूद हैं तो अधिकत्तर मिठाई विक्रेता भी अब बनी बनाई मिठाइयों को बेचने में अधिक रुचि दिखाते हैं। दूसरा त्यौहारों के सीजन में कुछ ऐसे लोग भी मिठाइयों बेचते हुए देखे जाते हैं जोकि इस व्यापार के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं रखते हैं। 

अधिक मुनाफा कमाने के चक्कर में खेला जा रहा खेल 
जानकारी के अनुसार पंजाब से बेहद कम दरों में मिठाइयां बिक्री के लिए भेजी जाती हैं। वर्तमान में जिस मिठाई का बाजार में मूल्य 400 रुपए प्रति किलो है उसे पंजाब से महज 120 से 140 रुपए प्रति किलो के हिसाब से चम्बा के कुछ मिठाई विक्रेताओं को बेचा जाता है, ऐसे में बिना मेहनत के 200 से 300 रुपए का मुनाफा कमाने के चक्कर में कुछ दुकानदार लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ करने में गुरेज नहीं करते हंै। यही वजह है कि अब यह धंधा दिन व दिन जोर पकड़ता जा रहा है। 

आगे भी जारी रहेगा अभियान
वहीं सी.एम.ओ. चम्बा डा. वाई.डी. शर्मा ने बताया कि वीरवार को एक बार फिर से जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी दीपक आनंद की अगुवाई में छेड़े गए विशेष अभियान के तहत 2 मामलों में सफलता हासिल हुई है। विभाग का यह अभियान आगे भी जारी रहेगा। मिलावटखोरों व गुणवत्ताहीन मिठाई बेचने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!