सितम्बर माह में इन परिवारों को नहीं मिलेगा बढ़े हुए राशन का कोटा

  • सितम्बर माह में इन परिवारों को नहीं मिलेगा बढ़े हुए राशन का कोटा
You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, August 12, 2017-11:10 PM

शिमला: हिमाचल प्रदेश के ए.पी.एल. परिवारों को सस्ते राशन के नाम पर पिछले कई महीनों से राहत नहीं मिल रही है। सितम्बर माह के लिए प्रदेश सरकार ने सभी जिलों को राशन का आबंटन कर दिया है लेकिन अगले महीने भी ए.पी.एल. परिवारों को घटी हुई मात्रा में ही राशन दिया जाएगा। उपभोक्ताओं को 6 किलो चावल व 10 किलो आटा प्रति परिवार दिया जाएगा। इसी निर्धारित मात्रा में इस माह भी चावल व आटा दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि जनजातीय क्षेत्रों को एडवांस कोटा भेजे जाने के कारण ए.पी.एल. परिवारों के राशन कोटे में कोई बढ़ौतरी नहीं हो पाई है। 

केंद्र सरकार ने किया 16,984 मीट्रिक टन गेहूं का आबंटन
सितम्बर महीने के लिए केंद्र सरकार ने 16,984 मीट्रिक टन गेहूं का आबंटन कर दिया है। इसमें बी.पी.एल. परिवारों को एन.एफ.एस.ए. से अतिरिक्त मात्रा में दिए जाने वाला कोटा भी शामिल है। इसके बाद सरकार ने सभी जिला नियंत्रकों को निर्धारित मात्रा के तहत परमिट काटने के निर्देश जारी कर दिए हैं। यही नहीं ए.पी.एल. व बी.पी.एल. परिवारों के लिए 8,492 मीट्रिक टन चावल के कोटे काभी आबंटन किया गया है। इसके आधार पर गरीबी रेखा से ऊपर रहने वाले उपभोक्ताओं को प्रति परिवार 6 किलो चावल प्रति परिवार देने का फैसला लिया गया है। इस तरह से ए.पी.एल. परिवारों को दिए जाने वाली चावल की मात्रा में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। 

2 महीने से नहीं मिल रहा खाद्य तेल
उपभोक्ताओं को उचित मूल्य की दुकानों में पिछले 2 महीने से खाद्य तेल भी नहीं मिल रहा है, ऐसे में उपभोक्ताओं को तेल खरीदने के लिए कई चक्कर काटने पड़ रहे हैं। इस महीने से उपभोक्ता अपनी पंसद के हिसाब से रिफाइंड और सरसों तेल खरीद सकते थे। खाद्य तेल के लिए जुलाई माह में टैंडर खोला गया था लेकिन अभी तक इसकी सप्लाई सुनिश्चित नहीं हो सकी है। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!