सुक्खू बोले-कांग्रेस का गढ़ रहा है हिमाचल, सुख राम ने नहीं छोड़ी थी पार्टी

  • सुक्खू बोले-कांग्रेस का गढ़ रहा है हिमाचल, सुख राम ने नहीं छोड़ी थी पार्टी
You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, August 19, 2017-1:33 AM

मंडी: कांग्रेस प्रभारी सुशील शिंदे के मंडी दौरे के दौरान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि हिमाचल कांग्रेस का गढ़ रहा है। वर्ष 1998 में भी अगर भाजपा को सत्ता में आने का मौका मिला तो वह एच.वी.सी. की वजह से मिला लेकिन उसके बाद फिर कांग्रेस ने वापसी की है। उन्होंने कहा कि भले ही हमारे विचारों में मतभेद है मगर उद्देश्य में कोई मतभेद नहीं है। उन्होंने कहा कि संगठन की बात सरकार द्वारा सुनी जा रही है और विकास के कार्य हो रहे हैं। मंडी कांग्रेस का गढ़ रहा है, इसे आगामी चुनाव तक ऐसे ही कायम रखना होगा। 
PunjabKesari
सुख राम सम्माननीय नेता
मीडिया के सवालों के दौरान उन्होंने पंडित सुख राम का बचाव करते हुए मुख्यमंत्री की टिप्पणी पर कहा कि वह सम्माननीय नेता हैं। उन्होंने कांग्रेस पार्टी को कभी नहीं छोड़ा। उन्हें कांग्रेस से निकाला गया था। उन्होंने कहा कि 1998 में भी उन्होंने कांग्रेस को समर्थन देने के लिए नेतृत्व परिवर्तन की बात कही थी मगर कुछ लोगों की जिद के कारण ऐसा संभव नहीं हो सका। 
PunjabKesari
शिंदे और वीरभद्र में हुई पहले आप-पहले आप 
सम्मेलन में जब पार्टी प्रदेशाध्यक्ष का भाषण खत्म हुआ तो तुरंत पार्टी प्रभारी सुशील कुमार शिंदे उठे और मंच की तरफ बढ़े। जैसे ही उन्होंने कदम बढ़ाया तो मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने उनका हाथ पकड़ लिया और उन पर बैठने के लिए जोर डाला तथा खुद उठकर पहले भाषण देने की जिद पर अड़ गए। इस दौरान एक-दूसरे को पहले आप-पहले आप के चक्कर में करीब एक मिनट लगा। बाद में मुख्यमंत्री ने उन्हें पार्टी प्रोटोकॉल का हवाला देते हुए संगठन में बड़ा बताते हुए मना लिया। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !