पांगी में बर्फबारी ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड

  • पांगी में बर्फबारी ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड
You Are HereHimachal Pradesh
Friday, December 15, 2017-3:37 PM

चंबा (विनोद): वीरवार को मौसम ने जिला चंबा के लोगों को कुछ राहत प्रदान की। वीरवार को भले लोग धूप को तरसते रहे, लेकिन बारिश व बर्फबारी का दौर थमने के चलते लोगों ने भारी राहत महसूस की। वीरवार को बारिश व बर्फबारी पर ब्रेक लगने के चलते प्रभावित हुई अपनी सेवाओं को फिर से सुचारू बनाने के लिए सभी विभाग जुट गए। इसका सुखद परिणाम यह निकला कि बुधवार के मुकाबले लोक निर्माण विभाग ने जहां अपने ज्यादातर बंद पड़े लिंक रोड को फिर से लोगों की आवाजाही के लिए खोलने में सफलता हासिल की तो वहीं बिजली बोर्ड ने भी अपने बंद पड़े कई ट्रांसफार्मरों को चालू कर दिया है। इस बर्फबारी के चलते जिला का जनजातीय उपमंडल पांगी सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। पांगी में तो जैसे जिंदगी बर्फबारी के कारण जम सी गई है। पांगी घाटी में भारी बर्फबारी होने के चलते समूची घाटी सफेद बर्फ की चादर से ढक गई है। ऐसे में घाटी का तापमान शून्य से नीचे चला गया है। जमा देने वाली इस ठंड में भी बिजली बोर्ड ने अपने कार्य को अंजाम देते हुए टूटी पड़ी बिजली की लाइनों को ठीक कर दिया है। ऐसे में अब बिजली बोर्ड के पांगी में सिर्फ 24 ही ऐसे बिजली के ट्रांसफार्मर बचे हैं, जोकि चालू नहीं हो पाए हैं। 


लो.नि.वि. के 10 मार्ग बंद
लो.नि.वि. सर्कल डल्हौजी के अनुसार वीरवार को विभाग की जिला चम्बा में मौजूद सड़कों में सिर्फ 10 सड़कें ही वाहनों की आवाजाही के लिए बंद रहीं। विभाग के अनुसार तीसा-सत्यास, बैरागढ़-देवीकोठी, तरेला-बौंदेड़ी-मंगली, तरेला-गुईला, द्रेहग्रा-सेरी, बेहनौता-भराड़ा, जखला-बुखारा, सलूणी-लंगेरा, कुठेड़-कंधवारा व बनीखेत-डल्हौजी मार्ग बंद रहे। बिजली बोर्ड के अनुसार जिला चम्बा में वीरवार शाम तक 50 बिजली के ट्रांसफार्मर बंद पड़े थे। बोर्ड के अनुसार इन ट्रांसफार्मरों के बंद होने के चलते उनके दायरे में आने वाले सैंकड़ों गांव अभी भी अंधेरे में डूबे हुए हैं। शुक्रवार तक इनमें से कइयों को सुचारू कर दिया जाएगा। 


अवरुद्ध मार्ग बहाल करने में जुटा विभाग 
सलूणी से शक्ति के अनुसार उपमंडल के अंतर्गत बंद पड़े मार्गों को बहाल करने के लिए मशीनरी तैनात कर दोपहर तक सलूणी-लंगेरा-खुडीमराल को प्रियुंगल तक, जबकि चकोली-भड़ेला मार्ग को कंधवारा तक, जलोट-पंजेई, चकोली-च्वाला, सलूणी-गल्ल और कुंड-सिंयूला अवरुद्ध मार्गों को बहाल कर दिया है। विद्युत उपमंडल सलूणी के अधीन पंचायत भांदल के गांव लंगेरा, प्रियुंगल, भेंट व मटूण में पिछले 3 दिन से हिमपात से लाइनें क्षतिग्रस्त होने से अंधेरा पसरा है और लोगों को अपने रोजमर्रा के कार्य करने में असुविधा हो रही है। लोगों ने विभाग से चरमराई विद्युत आपूॢत को शीघ्र बहाल करने की मांग की है।


20 से 25 बस रूट हुए प्रभावित
एच.आर.टी.सी. प्रबंधन चम्बा के अनुसार वीरवार को उसके करीब 20 से 25 बस रूट बर्फबारी के कारण प्रभावित हुए हैं। निगम के अनुसार बस चालकों को यह हिदायत दी गई है कि वे किसी भी प्रकार के दबाव में आकर बस को जबरन खराब सड़क मार्ग पर न ले जाएं। कार्यवाहक आर.एम. सुगल सिंह ने बताया कि निगम ने अपने सभी बस चालकों को यह हिदायत दी है कि वे बस को चलाते समय अपनी समझ के अनुसार निर्णय लें। उन्होंने बताया कि चूंकि बर्फबारी से पूर्व ही बस चालकों को अलर्ट कर दिया गया था, इसी वजह से निगम की कोई भी बस नहीं फंसी है। उन्होंने बताया कि वीरवार को चम्बा-भरमौर के लिए खड़ामुख तक तो चम्बा-तीसा मधुवाड़ तक खुला था। शाम को चम्बा-तीसा के बीच सीधी बस सेवा चालू हो गई थी। 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन