गुड़िया मामले में शांता ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर की यह मांग, जानने के लिए पढ़ें खबर

  • गुड़िया मामले में शांता ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर की यह मांग, जानने के लिए पढ़ें खबर
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, November 23, 2017-10:56 PM

पालमपुर: गुड़िया प्रकरण में शामिल रहे असली अपराधियों को सी.बी.आई. अतिशीघ्र पकड़े यदि ऐसा नहीं हुआ तो राज्य सरकार ही नहीं केंद्र सरकार की इस संस्था से भी लोगों का विश्वास उठ सकता है। सांसद शांता कुमार ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर हिमाचल के लोगों की भावनाओं से अवगत करवाया। गृह मंत्री राजनाथ सिंह को लिखे पत्र में शांता कुमार ने कहा कि हिमाचल के इतिहास में पहली बार 5 माह पूर्व यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना घटी थी, जिस कारण न केवल प्रदेशवासी चिंतित हुए थे अपितु प्रदेश को भी लज्जित होना पड़ा। उन्होंने कहा कि चिंता का विषय यह है कि इतने समय के पश्चात भी सी.बी.आई. भी अपराधियों को पकड़ नहीं पाई है, ऐसे में जनता कहां जाएगी तथा किस पर विश्वास करेगी। 

गुड़िया प्रकरण के बाद उफान पर आया लोगों का गुस्सा
उन्होंने कहा कि अपहरण के पश्चात बलात्कार, फिर नृशंस हत्या के बाद लोगों का गुस्सा उफान पर आ गया था तथा लोगों ने कोटखाई की घटना के पश्चात पुलिस थाने तक को आग के हवाले कर दिया था। इसके पश्चात इस सारे प्रकरण की जांच सी.बी.आई. को सौंप दी गई थी। सी.बी.आई. ने इस प्रकरण में आई.जी. रैंक के पुलिस अधिकारी सहित 9 पुलिस अधिकारियों तथा कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है परंतु अभी तक सी.बी.आई. असली अपराधियों का पता नहीं लगा पाई है जिस कारण क्रोधित तथा चिंतित जनता को शिमला में सी.बी.आई. कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन तक करना पड़ा है। 

वन विभाग के ईमानदार कर्मचारी की हत्या बनी रहस्य 
उन्होंने कहा कि हिमाचल में वन विभाग के एक ईमानदार कर्मचारी की हत्या भी अभी तक रहस्य बनी हुई है। राज्य सरकार व पुलिस भी इस मामले की जांच में कुछ नहीं कर सकी है तथा इस मामले को भी सी.बी.आई. को सौंपा गया है परंतु अपराधी अभी पकड़ से बाहर हैं। उन्होंने कहा कि देश में अपराधों की संख्या बढ़ रही है तथा कई स्थान पर जांच संतोषजनक ढंग से नहीं हो पा रही है। अपराधी अधिक चालाक होते जा रहे हैं तथा आधुनिक तकनीक का पूरा लाभ उठा रहे हैं परंतु सरकार को इतना सक्षम होना चाहिए कि अपराधी तुरंत पकड़े जाएं। उन्होंने आशंका जताई कि कहीं ऐसा तो नहीं हो रहा है कि अपराधी अधिक चतुर हो रहे हैं और कानून व्यवस्था को संभालने वाला हमारा तंत्र और भी कमजोर हो रहा है। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं से वह चिंतित हैं तथा शांत देवभूमि में लोग इस प्रकार की घटनाओं से आहत हो रहे हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!