PO Cell ने धरा उद्घोषित अपराधी, इन 2 मामलों में चल रहा था फरार

  • PO Cell ने धरा उद्घोषित अपराधी, इन 2 मामलों में चल रहा था फरार
You Are HereChamba
Monday, October 23, 2017-1:00 AM

चम्बा: चैक बाऊंस होने के मामले में अदालत द्वारा 5 वर्ष पूर्व उद्घोषित किए गए अपराधी को जिला पुलिस के पी.ओ. सैल ने मंडी जिला के जोगिंद्रनगर में दबोचने में सफलता हासिल की है। पी.ओ. सैल द्वारा धरे गए इस उद्घोषित अपराधी को एक और मामले में अदालत द्वारा उद्घोषित अपराधी करार दिया गया है। ऐसे में पुलिस के इस सैल ने 2 मामले में उद्घोषित घोषित किए गए अपराधी को दबोच कर एक और बड़ी सफलता अपने नाम की है। 

वर्ष 2012 में घोषित किया था भगौड़ा
ए.एस.पी. चम्बा विरेंद्र सिंह ठाकुर के अनुसार ललित शर्मा के खिलाफ पवन कुमार को दिए गए चैक के बाऊंस होने का मामला पुलिस में दर्ज किया गया था। इस मामले को लेकर जब अदालत में यह मामला चला तो ललित कुमार अदालत के समक्ष पेश नहीं हुआ। इस पर अदालत ने वर्ष 2012 में उसे उद्घोषित अपराधी घोषित किया था, ऐसे में ललित को तलाशने का जिम्मा पुलिस के पी.ओ. सैल को सौंपा गया था। सैल के प्रभारी मुख्य आरक्षी हमीद मुहम्मद की अगुवाई में आरक्षी नितेंद्र, आरक्षी रविंद्र व महिला आरक्षी रीनाराय ने शनिवार को ललित को मंडी जिला के जोगिंद्रनगर में दबोच लिया। 

अदालत में विचाराधीन है एक और मामला
उक्त उद्घोषित अपराधी के खिलाफ नैशनल कंपनी व विनायक कंस्ट्रक्शन कंपनी के नाम पर मामला अदालत में विचाराधीन है। उक्त मामले में भी उसे अदालत ने उद्घोषित अपराधी घोषित कर रखा है। ए.एस.पी. ने बताया कि उक्त उद्घोषित अपराधी को रविवार डल्हौजी अदालत के समक्ष पेश किया, साथ ही उसके खिलाफ पुलिस थाना चम्बा में एक और मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 174ए के तहत दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!