रोजाना 5 किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर है यहां के लोग, ये है वजह

  • रोजाना 5 किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर है यहां के लोग, ये है वजह
You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, October 21, 2017-12:51 PM

चम्बा : हर गांव को सड़क सुविधा से जोड़ने के बड़े-बड़े वायदे किए जाते हैं लेकिन कई गांव ऐसे भी हैं जो अभी तक सड़क सुविधा को तरस रहे हैं। ऐसी ही साहो क्षेत्र के दायरे में आने वाली ग्राम पंचायत अठलूंई है जो आजादी के करीब 6 दशक बीत जाने के बाद भी सड़क सुविधा को तरस रही है। यहां के लोगों को सड़क सुविधा प्राप्त करने के लिए करीब 4-5 किलोमीटर पैदल चलकर कीड़ी पहुंचना पड़ता है जिससे उन्हें काफी दिक्कतें पेश आती हैं। सड़क सुविधा न होने से सबसे ज्यादा परेशानी बीमार लोगों व स्कूली बच्चों को उठानी पड़ती है। अगर कोई व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार पड़ जाए तो उसे पीठ पर उठाकर 5 किलोमीटर का पैदल सफर तय करके सड़क तक पहुंचाना पड़ता है। कई बार तो मरीज अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ देता है।

लोगों की विभाग से मांग 
उक्त पंचायत केसमैला, ककरी, मराल, चौकुण, मटैना, कोठी, बाडेढा, कुकलैली, डिगोला, खग्गा, लौधर, द्रोबड़, शलोली व चलोगा के लोगों को हर दिन पैदल सफर करना पड़ता है। लोगों काका राम, टेक सिंह, बच्चन सिंह, प्यारो, लोकी, बांसू, दुनो, रमेश, भगतो, ठाकरू, जग्गो, शिखू, देसो, धिमो, मान सिंह,  लेखराज व देसराज आदि का कहना है कि उन्हें रोजाना अपने जरूरी कार्यों के लिए जिला मुख्यालय जाना पड़ता है परंतु सड़क सुविधा न होने के चलते उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अगर उनके गांव सड़क सुविधा से जुड़ जाते हैं तो उन्हें पैदल चलने की समस्या से निजात मिल जाएगी। लोगों ने विभाग से मांग की है कि शीघ्र उक्त गांवों को सड़क सुविधा उपलब्ध करवाई जाए।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!