बीड़ बिलिंग के पैराग्लाइडर दबंगों से परेशान, जान से मारने की मिल रही धमकियां

  • बीड़ बिलिंग के पैराग्लाइडर दबंगों से परेशान, जान से मारने की मिल रही धमकियां
You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, September 23, 2017-12:05 AM

जोगिंद्रनगर: बीड़ बिलिंग में पैराग्लाइडिंग स्थान पर चौंतड़ा से संबंध रखने वाले 12 पैराग्लाइडरों को कुछ पैराग्लाइडरों द्वारा पैराग्लाइडिंग रोकने व जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं, जिससे ये पैराग्लाइडर परेशान हैं। चौंतड़ा के राकेश कुमार, जितेंद्र कुमार, अजय कुमार, शशिपाल, विजय कुमार, प्रताप सिंह, शमशेर सिंह, प्रेमकटवाल, देसराज, दिनेश कुमार, कुंवर सम्राट व बिट्टू ने कहा कि दबंगों से मिल रही धमकियों के चलते वह पैराग्लाइडिंग साइट पर भी नहीं जा पा रहे हंै। इन पैराग्लाइडरों ने प्रदेश के डी.आई.जी., जिला कांगड़ा प्रशासन के डी.सी., एस.पी., एस.डी.एम. बैजनाथ तथा एस.एच.ओ. बैजनाथ से गुहार लगाई है कि उनके साथ न्याय किया जाए  अन्यथा मजबूरन उन्हें न्यायालय की शरण में जाना पड़ेगा। 

3 माह से बेकार घूमने को हैं मजबूर 
उन्होंने कहा कि पैराग्लाइडरों की तरह वे भी डिप्टी डायरैक्टर पर्यटन विभाग धर्मशाला के तहत पैराग्लाइडिंग के लिए पंजीकृत किए गए हैं। बीड़ बिलिंग पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन के कुल 140 सदस्यों में उनका नाम भी दर्ज है। वे पैराग्लाइडिंग के तमाम मापदंडों को पूरा करते हैं लेकिन बीड़ के क्योरी गांव के 14 पैराग्लाइडर उन्हें पैराग्लाइडिंग नहीं करने दे रहे हैं। उन्होंने करीब 3 लाख रुपए खर्च करके ये पैराग्लाइडर उधार के  तौर पर खरीद रखे हैं लेकिन अब पैराग्लाइडिंग से उन्हें रोकने से उनका सारा धंधा ही चौपट होकर रह गया है। इन युवाओं ने कहा कि वे 2 माह पहले इस मामले को लेकर एस.डी.एम. बैजनाथ से भी मिले थे लेकिन कोई कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई, जिस कारण वे गत 3 माह से बेकार घूमने को मजबूर हैं।

सरकार से की यह मांग
उन्होंने सरकार से मांग की है कि जब तक इस समस्या का समाधान नहीं हो जाता इस साइट को सभी के लिए बंद रखा जाए तथा जो आर्थिक नुक्सान उनका हुआ है उसकी भरपाई उक्त युवाओं से वसूल की जाए। पैराग्लाइडरों ने कहा कि अगर समस्या का समाधान नहीं खोजा गया तो वे कानून की शरण में जाने के  लिए मजबूर होंगे, साथ ही विधानसभा का घेराव भी किया जाएगा। 

क्या कहते हैं अधिकारी
पर्यटन विभाग धर्मशाला की डिप्टी डायरैक्टर सुनयना शर्मा ने कहा कि विभाग द्वारा ऐसे कोई आदेश जारी नहीं किए गए हंै। इन युवाओं को किसी प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है तो वे इसकी शिकायत कर सकते हैं, जिस पर विभाग द्वारा कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। वहीं बीड़ बिलिंग पैराग्लाइडिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेश कुमार ने बताया कि जिन 14 युवाओं की बात की जा रही है उन्हें यह बात सुनिश्चित करने के लिए रखा गया है कि कोई भी पैराग्लाइडर नशे का उपयोग करके पैराग्लाइडिंग न कर पाए। चौंतड़ा के 12 पैराग्लाइडर अगर तमाम औपचारिकताएं पूरी करते हैं तो उन्हें रोकने का सवाल ही पैदा नहीं होता है, वे उनसे संपर्क कर सकते हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!