सांस्कृतिक प्रतियोगिता में नयनादेवी संस्कृत कालेज ने मारी बाजी, मिला यह खिताब

  • सांस्कृतिक प्रतियोगिता में नयनादेवी संस्कृत कालेज ने मारी बाजी, मिला यह खिताब
You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, December 12, 2017-11:19 PM

सुंदरनगर: हिमाचल संस्कृत अकादमी शिमला के तत्वावधान में प्रदेश के संस्कृत कालेजों की 2 दिवसीय राज्य स्तरीय विविध सांस्कृतिक प्रतियोगिता मंगलवार सायं सुंदरनगर के राजकीय संस्कृत कालेज में संपन्न हुई जिसमें नयनादेवी के कालेज को सर्वश्रेष्ठ घोषित किया गया जबकि सुंदरनगर का राजकीय संस्कृत कालेज द्वितीय व बलाहर (कांगड़ा) का राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान तृतीय रहा। इस प्रतियोगिता में प्रदेश के 17 संस्कृत कालेजों के साथ-साथ बलाहर (कांगड़ा) के राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान तथा चम्बा के श्रीश्री गुरुकुल के करीब 150 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। समापन समारोह में प्रदेश के उच्च शिक्षा निदेशक बृज लाल बिंटा मुख्यातिथि थे। उन्होंने विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। इस दौरान वेद मंत्रोच्चारण प्रतियोगिता, संस्कृत भाषण प्रतियोगिता, लघु प्रश्नोत्तरी, संस्कृत गीतिका प्रतियोगिता, सूत्र अंत्याक्षरी तथा संस्कृत लघु नाटक प्रतियोगिताएं करवाई गईं। 
PunjabKesari
संस्कृत नाटक प्रतियोगिता में सुंदरनगर कालेज को प्रथम 
प्राचार्य केशवानंद कौशल के अनुसार संस्कृत नाटक प्रतियोगिता में सुंदरनगर कालेज को प्रथम पुरस्कार, नयनादेवी कालेज द्वितीय, बलाहर के संस्थान को तृतीय पुरस्कार तथा शिमला के कालेज को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। भाषण प्रतियोगिता में नयनादेवी कालेज का मनीष शर्मा प्रथम, बलाहर का लिखित शर्मा द्वितीय, सुंदरनगर का सुनील व क्यारटू का नितेश तृतीय रहे जबकि शिमला के अक्षय को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। संस्कृत गीतिका प्रतियोगिता में सुंदरनगर की सोनम अंगमो प्रथम, बलाहर की संध्या कुमारी द्वितीय व नयनादेवी का विपिन कुमार तृतीय रहा, कुल्लू की ज्योति को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता में नयनादेवी का लोकेश शर्मा प्रथम, बलाहर का विनायक शर्मा द्वितीय, सुंदरनगर की अंकिता व डोहगी का यज्ञदत्त तृतीय रहे जबकि क्यारटू की कविता को सांत्वना पुरस्कार दिया गया। 
PunjabKesari
लघु प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में शिमला के अक्षय व राजेश प्रथम
लघु प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में शिमला के अक्षय व राजेश प्रथम, सुंदरनगर की सोनम अंगमो व राजन देवी द्वितीय तथा बलाहर के रजत गौतम व मनीषा तृतीय रहे। वेद मंत्रोच्चारण प्रतियोगिता में सुंदरनगर के संस्कृत कालेज की छात्रा हितेश्वरी प्रथम रही जबकि नयनादेवी के कालेज का सुनील द्वितीय तथा डोहगी के कालेज का गणेशदत्त व सोलन के कालेज का अंशुबल संयुक्त रूप से तृतीय रहे। संस्कृत भाषण प्रतियोगिता में नयनादेवी का मनीष कुमार प्रथम, वेद व्यास परिसर गरली का लिखित शर्मा द्वितीय व क्यारटू का नितेश तृतीय रहा। सूत्र अंत्याक्षरी प्रतियोगिता में शिमला के अक्षय व राजेश प्रथम, नयनादेवी के विपिन कुमार व धीरज शर्मा द्वितीय व चकमोह के रोहित व दीपक तृतीय रहे। इस अवसर पर हिमाचल संस्कृत अकादमी शिमला के सचिव मस्तराम शर्मा व प्रो. केशव शर्मा, डा. नरोत्तम, डा. प्रवीण कुमार विमल, प्रो. लक्ष्मी निवास पांडे व डा. भक्तवत्सलम भी मौजूद रहे। 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन