Subscribe Now!

Watch Video: नड्डा के गृह जिले में स्वास्थ्य सेवाएं राम भरोसे, खाली पड़े डॉक्टरों के पद

You Are HereHimachal Pradesh
Tuesday, January 23, 2018-5:20 PM

बिलासपुर (मुकेश): बिलासपुर जिला में स्वास्थ्य सेवाएं राम भरोसे चल रही है। हालांकि ये केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा का गृह जिला है अगर यहां पर ही स्वास्थ्य सुविधाओं का ऐसा हाल है तो पूरे हिमाचल में कैसा होगा। इसका अनुमान सहज ही  लगाया जा सकता है। पूरे जिला में वर्तमान में लगभग 50 स्वास्थ्य संस्थान है जिनमें डॉक्टर की 108 पद स्वीकृत है जबकि इस समय में डॉक्टरों के रिक्त पद 49 है जबकि कार्य डॉक्टर मात्र 59 है और लगभग 15 स्वास्थ्य केंद्र छोटे और बड़े ऐसे हैं जिनमें  एक भी डॉक्टर नहीं है।


जिला के मुख्य क्षेत्रीय चिकित्सालय बिलासपुर में भी डॉक्टरों के 25 पद स्वीकृत है। लेकिन वहां पर भी 8 पदों के खाली चल रहे हैं। जनता बेहाल है प्रदेश चिकित्सा विभाग को इससे कोई लेना-देना नहीं। यहां 4 लाख की आबादी अपनी छोटे-छोटे इलाजों के लिए पंजाब और हरियाणा का रुख कर रही है। प्रदेश में पिछले कई महीनों से चिकित्सा सुविधाओं का दिवालिया निकल चुका है। लेकिन विभाग हाथ पर हाथ रखे बैठा है। हालांकि विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नैना देवी अति संवेदनशील क्षेत्र है। लाखों श्रद्धालु और पर्यटक यहां आते हैं। झंडूता में डॉक्टर के पांच पद स्वीकृत है और पांचों रिक्त चल रहे हैं। हालांकि पिछली कांग्रेस सरकार ने कई चिकित्सा संस्थान भी खोलें जिनमें ना तो डॉक्टर है और ना ही नर्सिंग स्टाफ।  


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन