टिकट मिलने से पहले नामांकन पत्र भरना पड़ सकता है महंगा, जानिए कैसे

  • टिकट मिलने से पहले नामांकन पत्र भरना पड़ सकता है महंगा, जानिए कैसे
You Are HereShimla
Wednesday, October 18, 2017-1:26 AM

शिमला: कांग्रेस व भाजपा के दावेदार उम्मीदवारों को टिकट मिलने से पहले नामांकन पत्र भरना भारी पड़ सकता है। ऐसे दावेदारों ने यदि नामांकन पत्र में 10 प्रस्तावकों के साइन नहीं करवाए तो उस सूरत में प्रत्याशी का नामांकन रद्द होना तय है। चूंकि केंद्रीय चुनाव आयोग के निर्देशानुसार किसी भी पार्टी से चुनाव लडऩे वाले उम्मीदवार को एक प्रस्तावक तथा आजाद प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लडऩे के लिए उम्मीदवार को 10 प्रस्तावकों से नोमिनेशन फार्म में साइन करवाने होते हैं। बता दें कि अब तक भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के टिकट तय नहीं हो पाए हैं जबकि मंगलवार को भाजपा के 5 और कांग्रेस के 1 उम्मीदवार ने नामांकन पत्र भर दिए हैं। ऐसे में यदि संबंधित प्रत्याशी को उसकी पार्टी टिकट नहीं देती है तो उस सूरत में उसका नामांकन रद्द हो जाएगा। 

ऐसे बच सकता है प्रत्याशी का नामांकन
प्रत्याशी का नामांकन केवल तभी बचेगा यदि उसने 10 प्रस्तावकों से नोमिनेशन में साइन करवा रखे हैं। आने वाले दिनों में भी नोमिनेशन फाइल करने से पहले सभी दावेदारों को इसका ध्यान रखना होगा, वहीं कांग्रेस-भाजपा में लगातार 3 दिन से टिकट को लेकर खींचतान चल रही है। विशेषकर भारतीय जनता पार्टी में महिलाओं को टिकट देने के चक्कर में कुछ प्रबल दावेदारों के भी टिकट काटे जाने की चर्चाएं गर्म हैं, ऐसे में नामांकन पत्र भर चुके दावेदारों को यदि टिकट नहीं मिलता है तो उनके नामांकन रद्द होने की संभावना बढ़ जाती है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!