अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरे के लिए पुलिस सील करेगी हर एंट्री और एग्जिट प्वाइंट

  • अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरे के लिए पुलिस सील करेगी हर एंट्री और एग्जिट प्वाइंट
You Are HereHimachal Pradesh
Sunday, September 24, 2017-1:12 PM

कुल्लू (शम्भू प्रकाश): अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव के लिए पुलिस हर एंट्री और एग्जिट प्वाइंट को सील करेगी। दशहरे के लिए पुलिस विभाग चुस्त-दुरुस्त हो गया है। एंट्री और एग्जिट प्वाइंट पर हर आने-जाने वाले वाहन की तलाशी ली जाएगी। नशे की तस्करी सहित अन्य गैर-कानूनी गतिविधियों पर नाकाबंदी के जरिए पैनी नजर रहेगी। पुलिस दशहरे के लिए ऐसी सुरक्षा व्यवस्था करने जा रही है जिससे परिंदा भी पर न मार सके। दशहरा उत्सव में करीब 1600 पुलिस कर्मी सेवाएं देंगे। इनमें पुलिस अधिकारी भी शामिल होंगे। होम गार्ड जवानों को भी दशहरा उत्सव में सुरक्षा के मोर्चे पर तैनात किया जाना है। 


अन्य जगहों से पहुंचेंगी पुलिस की टुकड़ियां
रविवार को तृतीय वाहिनी पंडोह तथा अन्य जगहों से पुलिस की टुकड़ियां कुल्लू पहुंचेंगी। उसके बाद दशहरा शुरू होने तक पुलिस कर्मियों को बुलाया जाएगा। पुलिस विभाग कलैहली, शाढ़ाबाई, गैमन ब्रिज, जिया आर्क ब्रिज व वाम तट मार्ग सहित विभिन्न जगहों पर नाके लगाएगा। दशहरा उत्सव के दौरान 7 दिन इन नाकों पर जवानों के रहने की व्यवस्था रहेगी और दिन-रात जवान हर तरह की गतिविधियों पर निगाह रखेंगे। इसके अलावा बंजार की ओर से सड़क को एन.एच. से जोड़ने वाले बिंदु के आसपास भी नाकाबंदी की जाएगी। 


सुरक्षा व्यवस्था में कोई कमी नहीं रखी जाएगी
जिला के सभी गैस्ट हाऊस और होटलों को जांचने का कार्य भी 3 दिन के भीतर शुरू किया जाएगा। पुलिस का कहना है कि दशहरा उत्सव में कई आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों के भी पहुंचने के आसार रहते हैं। पिछली बार दशहरा उत्सव में आई.एस.आई.एस. स्लीपर सैल के सदस्य आबिद खान ने भी चहलकदमी की थी। पूछताछ में आबिद खान ने खुद यह खुलासा किया था। ऐसे में पुलिस किसी भी बिंदु पर ढील नहीं देना चाहती। पूर्व में भी दशहरा उत्सव के दौरान कई तरह की खामियों की वजह से लोगों को मुश्किलें हुई हैं। इस बार दशहरा उत्सव में पुलिस सुरक्षा व्यवस्था में कोई कमी नहीं रखना चाहती। 


होटल गैस्ट हाऊसों के एंट्री रजिस्टर जांचे जाएंगे
पुलिस कुल्लू, मनाली तथा अन्य इलाकों में होटलों व गैस्ट हाऊस के एंट्री रजिस्टर जांचेगी। होटल व गैस्ट हाऊस संचालकों को पुलिस निर्देश देगी कि उनके यहां ठहरने वाले हर शख्स का पूरा रिकार्ड अपने पास रखे। सी.सी.टी.वी. कैमरों को भी चुस्त-दुरुस्त करने के लिए कहा जाएगा। किसी भी तरह की अनहोनी पर रजिस्टरों या कैमरों के माध्यम से मदद ली जा सकती है। विभिन्न इलाकों में होम स्टे संचालकों को भी संबंधित थाना और चौकियों के कर्मचारी अलर्ट करेंगे।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!