पद्मावती फिल्म के विरोध में उतरी क्षत्रिय महासभा, दी ये चेतावनी

  • पद्मावती फिल्म के विरोध में उतरी क्षत्रिय महासभा, दी ये चेतावनी
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, November 20, 2017-12:41 AM

बिलासपुर: रिलीज होने से पहले ही विवादित हो चुकी बॉलीवुड फिल्म पद्मावती के विरोध के स्वर अब धीरे-धीरे देव व ऋषि भूमि बिलासपुर में भी मुखर होते जा रहे हैं। इस फिल्म के विरोध में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा का यूथ विंग भी उतर आया है। श्री नयनादेवी विधानसभा क्षेत्र के बस्सी में भारतीय क्षत्रिय महासभा की हुई बैठक में सर्वसम्मति से इस फिल्म का विरोध करने का निर्णय लिया गया। इस बैठक की अध्यक्षता महासभा के यूथ विंग के अध्यक्ष सूरज प्रताप सिंह ने की।  बैठक में इस बात की भत्र्सना की गई कि बॉलीवुड फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली ने इस फिल्म के जरिए राजपूताना इतिहास से छेड़छाड़ की है जिसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। यूथ विंग के अध्यक्ष ने कहा कि इस फिल्म में रानी पद्मावती को जिन वस्त्रों में दिखाया गया है वैसे वस्त्र रानियां नहीं पहनती थीं। 

राजघरानों में आज भी निभाई जा रही पर्दा करने की प्रथा
उन्होंने कहा कि राजस्थान के राजपूतों में आज भी राजघराने की महिलाओं द्वारा बड़ों के सम्मान में पर्दा किए जाने की प्रथा है, वहीं इस फिल्म में रानी पद्मावती को घूमर नृत्य करते दिखाया गया है जबकि यह नृत्य राजघराने की स्त्रियां नहीं अपितु कालबेलिया जाति की स्त्रियां करती हैं। अत: क्षत्रिय महासभा इस फिल्म का पुरजोर विरोध करेगी। बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर यह चेतावनी भी दी गई है कि यदि हिमाचल में इसके विरोध के बावजूद किसी ने इस फिल्म का प्रसारण करने की कोशिश की तो महासभा इसे रोकने के लिए हरसंभव कदम उठाएगी। बैठक में प्रदेश सरकार से भी मांग की गई कि वह इस संदर्भ में ठोस कदम उठाए। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!