Subscribe Now!

जंजैहली विवाद: नरेश चौहान ने CM के खिलाफ दिया बड़ा बयान

  • जंजैहली विवाद: नरेश चौहान ने CM के खिलाफ दिया बड़ा बयान
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, February 12, 2018-9:00 AM

शिमला: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गृह क्षेत्र जंजैहली में एस.डी.एम. और सब-तहसील कार्यालय की अधिसूचना रद्द होने के बाद उपजे विवाद पर हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने चिंता जताई है। प्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन नरेश चौहान ने ताजा हालात के लिए सीधे तौर मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराया है। चौहान ने यहां जारी बयान में कहा है कि जन-भावनाओं का सम्मान करते हुए पूर्व कांग्रेस सरकार ने लोगों की मांग पर न केवल दोनों कार्यालय खोले, बल्कि इन्हें स्टाफ सहित शुरू भी किया। 


उन्होंने कहा कि भाजपा के सत्ता में आने के बाद उच्च न्यायालय ने दोनों कार्यालयों की अधिसूचना रद्द की। उन्होंने कहा कि जयराम सरकार ने भी बिना कोई उचित कदम उठाए दोनों कार्यालय बंद कर दिए। चौहान ने कहा कि जयराम के मुख्यमंत्री बनने के बाद अब जंजैहली क्षेत्र विशेष हो चुका है। इसलिए मुख्यमंत्री को इस मामले से कोर्ट के आदेश बताकर पल्ला झाड़ने के बजाय आदेशों की समीक्षा के लिए हाईकोर्ट जाना चाहिए था लेकिन सरकार ने ऐसा कोई कदम नहीं उठाया, जिससे जंजैहली के लोग खफा हैं। उन्होंने कहा कि सड़कों पर उतर चुके लोगों के सब्र का बांध टूट रहा है, जिससे स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। 


लोगों से शांति बनाए रखने की अपील
चौहान ने कहा है कि पूरे मामले में मुख्यमंत्री से जो चूक और भूल हुई है, उसे वह अब भी सुधार सकते हैं। उन्होंने कहा है कि उनको पीछे हटने के बजाय आगे आकर मामले का हल निकालना चाहिए। उन्हें लोगों के गुस्से को हल्के के बजाय गंभीरता से लेना होगा। चौहान ने कांग्रेस पार्टी की तरफ से लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने कहा कि लोग शांतिपूर्वक तरीके से अपने हकों की लड़ाई लड़ें। वे कोई ऐसा कदम न उठाएं जिससे कानून व्यवस्था बिगड़े। 
 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन