चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के सात मामले पकड़े, विभागों के कर्मचारियों ने गवाईं अपनी नींदें

  • चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के सात मामले पकड़े, विभागों के कर्मचारियों ने गवाईं अपनी नींदें
You Are HereHimachal Pradesh
Wednesday, November 15, 2017-3:13 PM

शिमला: हिमाचल में विधानसभा चुनाव के दौरान सात मामले आदर्श आचार संहिता को तोडऩे के सामने आए हैं। वहीं दो सौ के खिलाफ राशब, ड्रग और लड़ाई झगड़ों के सामने आए हैं। चुनाव आयोग की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। हिमाचल के चुनाव आयोग ने इसकी रिपोर्ट केंद्रीय आयोग को सौंपी है। पुलिस विभाग व आबकारी एवं कराधान विभाग ने शराब और करोड़ों रुपए के मादक पदार्थ पकड़े हैं। विभागों के साथ हिमाचल के दूसरे विभागों के कर्मचारी भी दिन रात की परवाह किए बगैर नाकों पर डटे रहे। विभागों के उडऩदस्तों ने आदर्श आचार संहिता को बनाए रखने में कड़ी कसरत की है। 28 दिनों के बीच में 200 पर नकेल कसी। चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन मंडी व सोलन में किया गया है। इन जिलों में सात मामले दर्ज किए गए हैं।

छु्टिटयां होने पर भी ड्टूटी बजाते रहे कर्मचारी
आचार संहिता के दौरान पुलिस के कर्मचारियों के अलावा दूसरे विभागों के कर्मचारियों की भी नाकों पर ड्यूटी लगा दी गई थी। इतना ही नहीं उनके विकली ऑफ से लेकर सरकारी छुट्टियों को भी रोक दिया गया था। चुनाव खत्म होने के बाद कर्मचारियों ने राहत की संास ली है। पुलिस विभाग व आबकारी विभाग को आदर्श चुनाव संहिता का पालन करने में दूसरे विभागों के कर्मचारियों ने भी बराबर साथ दिया है। उनकी ही बदौलत प्रदेश में चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से हो सके हैं और कहीं भी दोबारा वोटिंग करवाने की नौबत नहीं आई है।

ये सामग्री पकड़ी गई
आदर्श चुनाव संहिता के दौरान 28.783 किलो चरस, 31.876 किलो अफीम, 17.152 किलो गांजा, 1.07 किलो एमडीएमए, 49.514 ग्राम हेरोइन, 55 नशे की गोलियां व 43 ग्राम स्मैक पकड़ी गई है।। इनकी बाजार में कीमत एक करोड 64 लाख,89 हजार 621 रुपए आंकी गई है। टीम ने 54 लाख 4 हजार 862 रुपए की 13512.157 लिटर शराब बरामद की है। फ्लाइंग स्कवाइड की टीम ने 59 लाख 64 हजार 349 रुपए की कीमत का 2.335 किलो सोना भी बरामद किया है। चुनाव विभाग ने चुनाव के दौरान 101 मामले पेड न्यूज के पाए। 

केंद्रीय आयोग को भेजी रिपोर्ट
चुनाव आचार संहिता में पकड़ी गई सामग्री की पूरी रिपोर्ट बनाकर केंद्रीय चुनाव आयोग को भेज दी गई है। पुष्पेंद्र राजपूत, मुख्य निर्वाचन अधिकारी हिमाचल ने बताया कि सैंज स्कूल में एक अध्यापक ने बैलेट पेपर पर वोट कास्ट करने वाली पिक को सोशल मीडिया में शेयर कर दिया। इसके बाद उस टीचर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। धर्मपुर में सीपीआईएम नेता भपेंद्र और उनके वर्कर के साथ भाजयुमो द्वारा रास्ता रोक मारपीट का मामला दर्ज किया है। इस मामले में क्रॉस केस दर्ज किया गया है। वंदना ने सीपीआईएम के कार्यकर्ताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। जोगिंद्रनगर में महेंद्र पाल सिंह के साथ मारपीट व गाड़ी तोडऩे का मामला दर्ज किया है।  

पकड़ी गई है 2.30 करोड़ की नकदी 
चुनाव आचार संहिता के दौरान फ्लाइंग स्कवाइड की टीम ने 2 करोड़ 30 लाख 40 हजार 844 रुपए की नकदी पकड़ी है। जहां फ्लाइंग स्कवाइड की टीम ने 36 लाख 42 हजार 195 रुपए वहीं स्टेटिक्स सर्विलेंस ने एक करोड़ 10 लाख 74 हजार रुपए छापेमारी के दौरान पकड़े हैं। इसके अलावा पुलिस विभाग ने 84 लाख 30 हजार 100 रुपए पकड़े हंै। जांच पड़ताल में सही पाए जाने पर 35 लाख 11 हजार 429 रुपए लोगों को लौटा दिए गए हैं। जबकि 1 करोड़ 60 लाख 55 हजार 465 रुपए कोर्ट के आदेशों के बाद ट्रेजरी में डिपोजिट करवा दिए गए हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!