हिमाचल में बर्फबारी के बदले नजारे, जानिए कौन सी जगह मस्ती के लिए है सेफ (Watch Video)

You Are HereHimachal Pradesh
Wednesday, December 13, 2017-12:57 PM

कुल्लू/शिमला: बर्फबारी के नजारे लेने हैं तो हिमाचल चले आइए, लेकिन ध्यान रखें कि कौन सी जगह बर्फबारी में मस्ती के लिए सेफ है। मनाली आने वाले सैलानी 2 सप्ताह तक कोठी व सोलंग की वादियों में बर्फ के दीदार कर सकेंगे। मंगलवार यहां सैलानियों ने नेहरूकुंड में ही बर्फ के फाहों का आनंद उठाया। सुबह के समय कुछ एक पर्यटक वाहन सोलंगनाला जा पहुंचे लेकिन मौसम खराब होता देखा मनाली पुलिस ने नेहरूकुंड में अस्थायी बैरियर लगा दिया और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सैलानियों के वाहनों को नेहरूकुंड से आगे जाने पर रोक लगा दी। 
PunjabKesari

गुलाबा पर्यटन स्थल भी सैलानियों के लिए बंद
पुलिस द्वारा वाहनों को नेहरूकुंड में ही रोक देने से कुछ देर के लिए ट्रैफिक जाम की स्थिति पैदा हो गई। बर्फबारी अधिक होने के चलते गुलाबा पर्यटन स्थल भी सैलानियों के लिए बंद कर दिया गया है। डी.एस.पी. मनाली  पुनीत रघु ने पर्यटकों से आग्रह किया कि वे सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए नेहरूकुंड से आगे न जाएं। उन्होंने कहा कि सड़क ठीक होने और व्यवस्था सही होने के बाद ही सैलानियों को कोठी व सोलंग तक जाने की अनुमति दी जाएगी।


सैंकड़ों सड़कें अवरुद्ध, दर्जनों रूट बाधित
प्रदेशभर में हुई बर्फबारी व बारिश के कारण बर्फबारी के कारण करीब चार दर्जन सड़कें यातायात के लिए बाधित हो गईं। बंद पड़ी ज्यादातर सड़कें ग्रामीण क्षेत्रों की बताई जा रही है। जिला शिमला व किन्नौर में एच.आर.टी.सी. के दर्जनों रूट प्रभावित हुए हैं। जिला शिमला के चौपाल क्षेत्र पूरी तरह से अवरुद्ध हो गया है, जहां पर करीब 40 रूट प्रभावित हुए हैं, वहीं रोहड़ू व खड़ापत्थर में भी बर्फबारी के कारण कुछेक सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गए हैं जिस कारण यहां पर बसों का संचालन बंद हो गया है। बारिश व बर्फबारी से रामपुर से रोहड़ू व रामपुर से आनी मार्ग बंद हो गए हैं। क्षेत्रीय प्रबंधक अधिकारी रामपुर जगरनाथ ने बताया कि नारकंडा में बर्फ गिरने के कारण कई वाहनों को लुहरी वाया बसंतपुर होकर ही शिमला भेजा जा रहा है, वहीं रामपुर-कुल्लू भी बसों को नहीं भेजा जा रहा है। 


किन्नौर में अधिकांश ग्रामीण रूटों पर बसों की आवाजाही बंद
जलोड़ी जोत सड़क मार्ग बंद होने से रामपुर व कुल्लू के लिए बसों का चलना बंद हो गया है। सोमवार से हुई लगातार बर्फबारी की वजह से लाहौल घाटी में भी तीनन वैली से लेकर केलंग मुख्यालय तक के बीच में वाहनों का आवागमन थम गया है। मौसम के बिगड़ने से रोहतांग दर्रे पर भी भारी बर्फबारी के चलते रोहतांग दर्रा अब वाहनों के लिए बंद हो गया है। जनजातीय जिला किन्नौर में अधिकांश ग्रामीण रूटों पर बसों की आवाजाही बंद हो गई है जबकि उच्चा मार्ग-5 पर शिमला से रिकांगपिओ तक बसों की आवाजाही सुचारू रही। आर.एम. रिकांगपिओ प्रेम कश्यप ने कहा कि असरंग, नेसंग, छितकुल व रोघी आदि रूट पर बसें नहीं चली हैं। रोहड़ू परिवहन डिपो के अड्डा प्रभारी उतम ठाकुर के अनुसार डोडरा व क्वार, नारकंडा, कुठाड़ी, कड़ीवन सहित आधा दर्जन स्थानों के लिए बस सेवाएं बंद कर दी गई हैं। लाहौल-स्पीति जिला में 110 सड़कें बर्फबारी के कारण बंद हो गई हैं। ये सड़कें अब आगामी अप्रैल माह के बाद ही खुल पाएंगी। 


 


अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन