Watch Video: श्रावण महीने के पहले ही दिन हनोगी मंदिर पर गिरी चट्टानें, 20 ने भाग कर बचाई जान

You Are HereHimachal Pradesh
Sunday, July 16, 2017-3:44 PM

मंडी (पुरुषोत्तम/नीरज): श्रावण महीने के पहले ही दिन मंडी जिला में एक बड़ी अनहोनी उस समय होते-होते टल गई जब चंडीगढ़-मनाली एनएच-21 और पंडोह से आगे प्रसिद्ध हनोगी माता मंदिर के पास पहाड़ी से विशाल चट्टानें गिरने लगी। हैरानी की बात यह है कि जब यह चट्टानें गिरी तब वहां करीब 20 श्रद्धालु मौजूद थे। उन्होंने तुंरत मंदिर में जाकर अपनी जान बचाई। गनीमत रही कि पहाड़ी से गिरा एक बड़ा पत्थर माता के मंदिर के सामने मात्र 5 फीट की दूरी पर रूक गया। इतना ही नहीं मंदिर के आस-पास और भी चट्टानें गिरी जिनके कारण यहां पर एचपीएमसी के जूस बार को नुकसान हुआ है। यहां मदिर के बाहर खड़ी एक कार को भी पत्थर गिरने से नुकसान पहुंचा है। 

PunjabKesari
PunjabKesari
PunjabKesari

लोगों में दहशत का माहौल

घटना सुबह लगभग साढ़े 7 बजे की है, जब सावन की संक्रांत होने की वजह से मंदिर में श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया था। इस घटना से जहां लोगों में दहशत का माहौल है। घटनास्थल पर पहुंची एसडीएम सदर पूजा चौहान ने बताया कि इस घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। एक बच्चे को कुछ आंशिक चोटें आई हैं। एसडीएम ने बताया कि जो नुकसान हुआ है उसका आंकलन किया जाएगा। साथ ही जहां से पत्थर नीचे गिर रहे हैं वहां माईनिंग ऑफिसर और तहसीलदार की टीम के द्वारा सर्वेक्षण किया जाएगा और इसका हल ढूंढने का प्रयास किया जाएगा। 
PunjabKesari
PunjabKesari

पर्यटकों को भी इस घटना के बाद सताने लगा डर
हनोगी मंदिर के पुजारी ने कहा कि यहां पर हर बार इस तरह से पत्थर गिरते रहते हैं लेकिन बस माता की कृपा से यहां पर आज तक कोई बड़ा हादसा या नुकसान नहीं हुआ है। मंदिर पुजारी और स्थानिय लोगों ने पहाड़ी से इतने बड़े पत्थरों के गिरने का कारण पहाड़ी पर बिजली के बड़े टावरों का अवैज्ञानिक निर्माण बताया है। वहीं यहां से गुजरने वाले पर्यटकों को भी इस घटना के बाद डर सताने लगा है। उनका कहना है कि इस तरह से इतनी बड़ी-बड़ी चट्टानों का गिरना किसी जानी खतरे से कम नहीं है।
PunjabKesari
PunjabKesari

 PunjabKesari

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !