गद्दी समुदाय चुनाव में लेगा लाठीचार्ज का बदला : नेताम

  • गद्दी समुदाय चुनाव में लेगा लाठीचार्ज का बदला : नेताम
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, August 21, 2017-1:23 AM

धर्मशाला: भाजपा अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष राम विचार नेताम ने रविवार को शाहपुर में भाजपा अनुसूचित प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं व गद्दी समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि गद्दी समुदाय के उड़ाए उपहास व लाठीचार्ज का बदला आगामी विधानसभा चुनाव में लिया जाएगा। गद्दी समुदाय के लोग उनके साथ हुई इस घटना को अपनी गांठ में बांधकर रखें और इस बारे घर-घर जाकर बताएं। कांग्रेस की नैया डूबने वाली है और देश व हिमाचल कांग्रेस का कांग्रेस नेतृत्व विचलित हो चुका है, तभी ऐसा काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार को धिक्कार है, गरीबों के लिए काम तो किया नहीं मगर समुदाय का उपहास जरूर उड़ाया। उन्होंने कहा कि उन्हें कार्यक्रम में आने में बिलंव हुआ, इसका कारण मौसम व फ्लाइट में देरी था। इसके लिए उन्होंने सभी से क्षमा मांगी। वहीं शाहपुर की विधायक सरवीण चौधरी ने कहा कि शांता कुमार ने गद्दी समुदाय व एस.टी. वर्ग की सुविधाओं के लिए काफी काम किया है।

सरकार के इशारे पर हुआ लाठीचार्ज : कपूर
इस दौरान पूर्व मंत्री किशन कपूर ने अपना संबोधन गद्दी भाषा में ही शुरू किया और कहा कि कांग्रेस गद्दियों को कीड़ा-मकौड़ा ही समझती है लेकिन गद्दियों की ताकत का कांग्रेस को कोई अंदाजा नहीं है।  जिस तरह कुरुक्षेत्र में श्रीकृष्ण के ज्ञान के बाद अर्जुन ने कौरवों का संहार किया था, उसी तरह से अब गद्दी कांग्रेस का संहार करेंगे। धर्मशाला में लाठीचार्ज सरकार के इशारे पर ही हुआ है। वहीं वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी ने हुल्लड़बाजी करके आए हुए आयोग के अतिथियों का अपमान किया है। भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष विपिन परमार ने कहा कि कांग्रेस के मंत्री व विधायक बगावत कर रहे हैं। गुडिय़ा केस में वीरभद्र सिंह ने सबूत खत्म करने के प्रयास किए हैं। भाजपा प्रदेश महामंत्री कृपाल परमार ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ी है।

गद्दी समुदाय का अपमान दुर्भाग्यपूर्ण : शांता
इस दौरान सांसद शांता कुमार ने कहा कि हिमाचल के सबसे अनुभवी नेता व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह द्वारा गद्दी समुदाय का पहले अपमान करना बाद में लाठीचार्ज करवाना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि घटना के बाद मुख्यमंत्री ने आज तक समुदाय के लोगों से माफ ी भी नहीं मांगी है। उन्होंने कहा कि वह इस कृत्य की निंदा करते हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!