इस वजह से निजी स्कूलों को नहीं मिलेगी मान्यता, पढ़ें पूरी खबर

  • इस वजह से निजी स्कूलों को नहीं मिलेगी मान्यता, पढ़ें पूरी खबर
You Are HereHimachal Pradesh
Monday, September 11, 2017-9:28 AM

धर्मशाला : हिमाचल प्रदेश में बिल्डिंग नॉम्र्स को पूरा न करने वाले प्राइवेट स्कूलों को शिक्षा विभाग द्वारा मान्यता नहीं दी जाएगी। शिक्षा विभाग के पास मान्यता प्राप्त करने के लिए प्राइवेट स्कूलों के आवेदन तो आए हैं, जिसका शिक्षा विभाग आकलन कर रहा है। हालांकि पहले ज्यादातर प्राइवेट स्कूलों में टैट पास अध्यापक नहीं होते थे, जिसके चलते आर.टी.ई. नॉम्र्स की उल्लंघना हो रही थी, जिसके चलते उक्त प्राइवेट स्कूलों को मान्यता नहीं मिल रही थी, लेकिन अब अप्रशिक्षित शिक्षक जोकि सरकारी या प्राइवेट स्कूल में कार्यरत हैं, उन्हें 31 मार्च, 2019 तक डी.एल.एड. कोर्स के अंतर्गत प्रशिक्षित होना अनिवार्य है, के निर्णय से तो राहत मिली है, लेकिन बावजूद इसके शिक्षा विभाग की मानें तो यदि बिल्डिंग नॉम्र्स को जो भी प्राइवेट स्कूल पूरा नहीं करेगा, उसे मान्यता नहीं मिलेगी।

पाठशाला में हैं एक से 5 तक की कक्षाएं 
प्राथमिक शिक्षा उपनिदेशक दीपक किनायत ने कहा कि जिला में कई प्राइवेट स्कूल हैं, जोकि बिल्डिंग नॉम्र्स को पूरा नहीं कर रहे हैं। बिल्डिंग नॉम्र्स में प्राइवेट स्कूलों की बिल्डिंग क्षमतानुसार कम होना और अग्रिशमन यंत्रों की कमी सहित अन्य कमियां शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि यदि पाठशाला में एक से 5 तक की कक्षाएं हैं तो संबंधित खंड प्रारंभिक शिक्षा अधिकारी के समक्ष मान्यता संबंधी आवेदन प्रस्तुत करना होता है। वहीं यदि कक्षाएं 1 से 8 अथवा 6 से 8 हों तो उस स्थिति में संबंधित जिला उपनिदेशक के समक्ष मान्यता हेतु आवेदन करना होता है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !